बिकरू कांड: आप ने ज्ञापन सौंप की खुशी दुबे समेत चारों महिलाओं की रिहाई की मांगी

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । खुशी दुबे, क्षमा दुबे, शांति दुबे, रेखा अग्निहोत्री और उसके ढाई साल के मासूम बेटे को जेल से तत्काल रिहा कराने की मांग करते हुए आम आदमी पार्टी ने आज राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा।

जिलाध्यक्ष नीरज पांडेय के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल डीएम से मिला और ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से राज्यपाल को अवगत कराया गया है कि कानपुर के बिकरु कांड में कई महिलाओं को नियम क़ानून को ताक पर रखकर पिछले 10 महीनों से जेल में रखा गया है, जिसमें ख़ुशी दुबे पत्नी अमर दुबे, अमर दुबे की मां क्षमा दुबे, विकास दुबे की नौकरानी रेखा अग्निहोत्री व हीरू दुबे की माँ शांति दुबे शामिल हैं।

जिलाध्यक्ष नीरज सिंह ने कहा कि “बिकरुकांड में अमर दुबे के एनकाउंटर से तीन दिन पहले ख़ुशी दुबे से उसकी शादी हुई थी, पुलिस के रिकॉर्ड में ख़ुशी दुबे के विरुद्ध पहले से कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं था। ख़ुशी की गिरफ़्तारी के बाद जब मीडिया में मामले ने तूल पकड़ा तो कानपुर के तत्कालीन एसएसपी दिनेश कुमार ने मीडिया में बयान दिया की ख़ुशी दुबे निर्दोष है और उसको रिहा कर दिया जाएगा। पिछले 10 महीने से ख़ुशी दुबे जेल में है। कई बार उसे अति गंभीर हालत में बाराबंकी व लखनऊ के अस्पतालों में भर्ती कराया गया। इसी तरह अमर दुबे की मां क्षमा दुबे, नौकरानी रेखा अग्निहोत्री को ढाई साल के बेटे के साथ, जेल में रखा गया है। एक अन्य आरोपी हीरु दुबे की मां शांति दुबे भी पिछले 10 महीनों से जेल में हैं। हीरु दुबे को बिकरू काण्ड में अभियुक्त बनाया गया है, मगर हीरु दुबे की मां को किस अपराध में, किस आधार पर जेल में रखा गया है, इस संबंध में पुलिस प्रशासन कोई ठोस प्रमाण नहीं दे पाया है। उन्होंने इस प्रकरण में तत्काल हस्तक्षेप कर नियम कानून का पालन कराने व उपरोक्त महिलाओं को अतिशीघ्र रिहा करवाने की मांग की है।”

प्रतिनिधि मंडल में जिला महासचिव रमेश गौतम, महिला जिलाध्यक्ष दुर्गा देवी, सदर ब्लॉक अध्यक्ष शम्भू नाथ, शिशिर, समीर खान, सुरेश शुक्ला, सोनी देवी आदि लोग मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!