उच्च शिक्षा से वंचित नही होंगी गरीब छात्राए- डॉ सुधीर

जनपद न्यूज ब्यूरो

◆ सोनभद्र की गरीब छात्राओं को निःशुल्क दे रहे शिक्षा

◆ जिले की आदिवासी कन्याओं के उत्थान के लिए उठाया कदम

सोनभद्र। जिले की अब कोई भी गरीब आदिवासी निर्धन कन्या उच्च शिक्षा से वंचित नहीं रहेगी। श्री प्रमोद जी महिला महाविद्यालय कुशहरा शाहगंज के प्रबंधक डॉक्टर सुधीर कुमार मिश्र ने आदिवासी गरीब और निर्धन कन्याओं को नि:शुल्क शिक्षा देने का बीड़ा उठाया है। वह पिछले कई वर्षों से गरीब निर्धन आदिवासी कन्याओं को निशुल्क शिक्षा भी दे रहे हैं, जिससे जिले के शिक्षा स्तर को बढ़ाने में भी मदद मिल रही है।
देश के चार राज्यों की सीमाओं से घिरा उत्तर प्रदेश का जनपद सोनभद्र शिक्षा के क्षेत्र में आज भी काफी पीछे हैं। विशेषकर यहां उच्च शिक्षा का खासा अभाव है। उच्च शिक्षा के अभाव में यहां से बच्चों को अन्य जिलों व प्रदेशों में जाकर शिक्षा ग्रहण करनी पड़ती है। गरीबी के कारण तमाम आदिवासी छात्राएं उच्च शिक्षा से वंचित हो रही हैं। इसे देखते हुए श्रीप्रमोद जी महिला महाविद्यालय शाहगंज के प्रबंधक व उत्तर प्रदेश स्ववित्तपोषित महाविद्यालय एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉक्टर सुधीर कुमार मिश्र ने आदिवासी कन्याओं के उत्थान के लिए निशुल्क शिक्षा देने का बीड़ा उठाया है। पिछले कई वर्षों से वे अपने महाविद्यालय में आदिवासी व गरीब छात्राओं को निशुल्क शिक्षा भी दे रहे हैं। स्नातक में आज भी कई छात्राएं जो आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण उच्च शिक्षा ग्रहण करने में असमर्थ थी उन्हें वे अपने विद्यालय में निशुल्क शिक्षा दे रहे हैं। डॉक्टर सुधीर कुमार मिश्रा ने शिक्षा के क्षेत्र में जिले में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। विद्यालय में डीएलएड की कक्षाओं में भी कई छात्राएं हैं, जो नाम मात्र की फीस जमा कर शिक्षा ग्रहण कर रही हैं। डॉ सुधीर मिश्र का कहना है कि महाविद्यालय की स्थापना का एकमात्र उद्देश्य गरीब कन्याओं को उच्च शिक्षा से लाभान्वित करना है। उन्होंने जिला प्रशासन को भी इससे संबंधित पत्र देकर महाविद्यालय में गरीब निर्धन व आदिवासी छात्राओं को भेजने की अपील की थी। जिला प्रशासन स्तर से डीआईओएस सोनभद्र को भी इस आशय का पत्र जारी किया गया था। इस पर प्रयास भी तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि वे अपने स्तर से पूरी कोशिश कर रहे हैं कि जिले की गरीब आदिवासी निर्धन कन्या किसी भी तरह उच्च शिक्षा से वंचित न रहे और वह ऐसी कन्याओं को चयनित कर अपने विद्यालय में निशुल्क शिक्षा देने का कार्य कर रहे हैं जिससे जिले के शिक्षा स्तर पर तेजी से बढ़ाया जा सके।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!