फर्जी पट्टा : ओबरा के बाद कभी भी काचन गांव का मामला जिले में ला सकता है भूचाल

जनपद न्यूज ब्यूरो

प्रतीकात्मक तस्वीर

सोनभद्र । खनन पट्टे में गड़बड़ी को लेकर दो लेखपालों पर की गई कार्यवाही की खबर जैसे ही जनपद न्यूज Live ने चलाया पूरे जिले में हड़कम्प मच गया । जनपद न्यूज live ने सबसे पहले बताया कि कैसे खनन व्यवसायी को लाभ पहुंचाने के आरोप में दो लेखपालों पर शासन ने कार्यवाही करने का निर्देश जारी किया है ।

ऐसा नहीं कि जिले में पट्टे की गड़बड़ी का यह पहला मामला है, इसके पहले भी ओबरा में ही पट्टे में गड़बड़ी व बेचने का मामला सामने आ चुका है ।

पट्टे में गड़बड़ी का एक और मामला कभी भी जिले में भूचाल ला सकता है । इस मामले को भी जनपद न्यूज Live ने सबसे पहले चलाया और बताया कि म्योरपुर के काचन गांव में भी पट्टे की जमीन में बड़ी अनियमितता हुई है । सूत्रों के मुताबिक काचन गांव में तो तत्कालीन तैनात लेखपाल व कानूनगों ने जमीन को अपने रिश्तेदारों के नाम दर्ज कर लिया । इस हाईप्रोफाइल मामले में जांच तो कई बार हुई लेकिन हर बार मामले को दबा दिया गया । बताया जा रहा है कि इस मामले की सत्यता ऊपर के अधिकारियों को भी है लेकिन विभागीय किरकिरी न हो इसलिए पट्टे को निरस्त कर फिर से ग्राम समाज में दर्ज कराने की कवायद चल रही है । लेकिन सवाल यह उठता है कि यदि रक्षक ही भक्षक बन जाये तो कोई क्या करे ।

बहरहाल ओबरा की कार्यवाही के बाद उम्मीद है म्योरपुर काचन गांव का मामला भी जल्द उजागर होगा और प्रशासन कड़ी कार्यवाही भी करेगा ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!