कोरोना के गिरते ग्राफ को लेकर दिल्ली-महाराष्ट्र में सरकार ने दी ढील, देखें क्या खुला, क्या है बन्द

दिल्ली में कोविड-19 के सुधरते हालात के मद्देनजर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को लॉकडाउन में और छूट देने की घोषणा करते हुए कहा कि सात जून से दिल्ली मेट्रो 50 फीसदी क्षमता के साथ चलेगी तथा बाजार और मॉल सम-विषम आधार पर खुलेंगे। वहीं, महाराष्ट्र सरकार ने साप्ताहिक संक्रमण दर और ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता के मद्देनजर राज्य में कोरोना वायरस संबंधी प्रतिबंधों में ढील देने के लिए पांच-स्तरीय योजना पर अमल की घोषणा की है। देश के उत्तर एवं पश्चिम के अधिकतर राज्यों में जहां कोविड के हालात में सुधार देखने को मिला है, वहीं, दक्षिण एवं पूर्वी राज्यों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में अब भी कमी नहीं आई है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए लगाई गई पाबंदियों में कुछ ढील देते हुए राज्य में लॉकडाउन को एक और सप्ताह बढाते हुए 14 जून तक जारी रखने की शनिवार को घोषणा की। उन्होंने आवश्यक वस्तुओं की बिक्री वाली दुकानों को फिर से खोलने और सरकारी कार्यालयों में कामकाज फिर से शुरू किये जाने की अनुमति देने के साथ ही कुछ पाबंदियों में ढील दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुल मिलाकर राज्य में अब कोरोना वायरस की स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि कोयंबटूर और नीलगिरी समेत 11 जिलों में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है इसलिए ऐसे क्षेत्रों में राज्य के अन्य क्षेत्रों की तुलना में पाबंदियों में कम छूट दी जायेगी। इससे पहले, पड़ोसी राज्य कर्नाटक ने लॉकडाउन को 14 जून तक बढ़ाने की घोषणा की।

उधर, उत्तर प्रदेश सरकार ने शनिवार को बरेली और बुलंदशहर जिलों में सोमवार सात जून से कोरोना कर्फ्यू में ढील दिये जाने की घोषणा की। इन दो जिलों में कोविड-19 निषिद्ध क्षेत्रों को छोड़कर बाकी इलाकों में सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक दुकान और बाजार खोलने की अनुमति सप्ताह में पांच दिन रहेगी जबकि शनिवार व रविवार को पूरे दिन ये बंद रहेंगे। राज्य में ऐसे जिलों की संख्या अब 67 हो गयी हैं जहां 600 से कम रोगी हैं इस लिये इन जिलों में कोरोना कर्फ्यू से ढील दी गयी हैं। प्रदेश सरकार ने शनिवार को एक सरकारी बयान में कहा कि रात्रिकालीन कर्फ्यू शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक लागू रहेगा जबकि शनिवार व रविवार को कोरोना कर्फ्यू लागू होगा। इस दौरान कोविड नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। बयान के मुताबिक प्रदेश के 67 जिलों में संक्रमण के मामलों की संख्या 600 से कम हो गई है। इससे पहले राज्य सरकार ने 75 जिलों में से 55 जिलों में कोरोना कर्फ्यू में ढील दी थी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि सात जून से दिल्ली मेट्रो का 50 फीसदी क्षमता के साथ संचालन होगा तथा बाजार और मॉल सम-विषम आधार पर खुलेंगे। सरकार ने मुहल्ले की सभी दुकानों को भी खोलने की इजाजत दी है जबकि राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार से लागू हो रही नई रियायतों के साथ शराब की दुकानें भी खुल जाएंगी। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक 19 अप्रैल को लागू किये गए मौजूदा लॉकडाउन को एक और हफ्ते (14 जून तक) बढ़ा दिया गया है जोकि सात जून को सुबह पांच बजे समाप्त होने जा रहा था।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने एक डिजिटल मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि सरकारी और निजी कार्यालयों को 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ फिर से खोलने की अनुमति दी जाएगी। मॉल, बाजार और कारोबारी परिसर (साप्ताहिक बाजारों को छोड़कर) दुकानों के नंबरों के आधार पर सम-विषम आधार पर सुबह 10 बजे से रात आठ बजे तक खुले रहेंगे। मुहल्ले की दुकान और आवासीय परिसरों में स्थित दुकानों को आवश्यक और गैर आवश्यक सेवाओं के भेद के बगैर सभी दिन खोलने की इजाजत होगी। वहीं, सबसे अधिक प्रभावित महाराष्ट्र में साप्ताहिक संक्रमण दर और ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता के आधार पर राज्य में कोरोना वायरस संबंधी प्रतिबंधों में ढील देने के लिए पांच-स्तरीय योजना की घोषणा की गई। एक सरकारी अधिसूचना के मुताबिक, तीन जून को संक्रमण दर और ऑक्सीजन बिस्तर की उपलब्धता के आधार पर यह आदेश सात जून से लागू होगा। पहली श्रेणी के तहत पांच प्रतिशत संक्रमण दर और 25 प्रतिशत से कम ऑक्सीजन बिस्तर भर्ती वाले शहर और जिलों को पूरी तरह खोलने की अनुमति रहेगी। दूसरी श्रेणी के तहत जिन शहरों और जिलों में संक्रमण दर पांच फीसदी और 25 से 40 फीसदी ऑक्सीजन बेड पर मरीज हैं, वहां जरूरी और गैर जरूरी दुकानों को नियमित समय के मुताबिक खोलने की इजाजत होगी। तीसरी श्रेणी के तहत प्रतिबंधों में ढील उन स्थानों पर लागू होगी जहां संक्रमण दर पांच प्रतिशत से 10 प्रतिशत है और ऑक्सीजन बिस्तर पर मरीजों के भर्ती होने की दर 40 प्रतिशत से अधिक है। चौथी श्रेणी उन स्थानों के लिए है जहां संक्रमण दर 10 से 20 फीसदी और ऑक्सीजन बेड भर्ती 60 फीसदी से ज्यादा है। वहां आवश्यक दुकानें शाम चार बजे तक खुली रहेंगी। सार्वजनिक स्थान खुले रहेंगे, लेकिन वे सप्ताहांत पर बंद रहेंगे।

पांचवी श्रेणी में जहां संक्रमण दर 20 फीसदी से ज्यादा और ऑक्सीजन बेड पर 75 फीसदी से ज्यादा मरीज हैं, वहां शाम चार बजे तक सिर्फ जरूरी दुकानें खुली रहेंगी और कार्यालय में 15 फीसदी उपस्थिति रहेगी। कई राज्यों ने जहां हालात सुधरने पर पाबंदियों में ढील दी है, वहीं अधिकतर राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों ने लॉकडाउन जैसी पाबंदियों की अवधि को विस्तारित करने का निर्णय लिया है। देश में करीब दो महीनों में कोविड-19 के एक दिन में सबसे कम 1,20,529 नए मामले आए और इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामले 2,86,94,879 पर पहुंच गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, इस संक्रामक रोग से 3,380 और लोगों के जान गंवाने से मृतकों की कुल संख्या 3,44,082 हो गयी है जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या लगातार पांचवें दिन 20 लाख से कम रही। मंत्रालय ने बताया कि रोज आने वाले संक्रमण के नए मामले 58 दिनों में सबसे कम हैं। राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों में लागू लॉकडाउन की स्थिति: – दिल्ली में सात जून से पाबंदियों में ढील के साथ लॉकडाउन लागू रहेगा। – हरियाणा में पांबदियों में रियायत के साथ सात जून तक लॉकडान लागू रहेगा। – पंजाब ने 10 जून तक लॉकडाउन बढाया है। – उत्तर प्रदेश ने 67 जिलों में प्रतिबंधों में ढील दी है। राज्य में रात्रिकालीन कर्फ्यू और सप्ताहांत लॉकडाउन जारी रहेगा। – बिहार ने आठ जून तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है। – झारखंड ने 10 जून तक लॉकडाउन बढ़ाया है। – ओडिशा में 17 जून तक लॉकडाउन की पाबंदियां लागू रहेंगी। – पश्चिम बंगाल सरकार ने लागू लॉकडाउन को 15 जून तक जारी रखने की घोषणा की है। – राजस्थान ने पाबंदियों में कुछ ढील के साथ आठ जून तक लॉकडाउन जारी रखा है। – मध्य प्रदेश ने कोरोना कर्फ्यू ने 15 जून तक बढ़ा दिया है। हालांकि, कुछ छूट दी गई हैं। – छत्तीसगढ़ ने 31 मई को अगले आदेश तक लॉकडाउन लागू रहने की घोषणा की थी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!