कोरोना महामारी को नियंत्रण करने में जिला प्रशासन के साथ स्वास्थ्य विभाग व जनप्रतिनिधि का अहम रोल- प्रभारी मंत्री

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । श्रम मंत्री व जनपद के प्रभारी मंत्री प्रदेश स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा कोरोना महामारी की तीसरी लहर के आसन्न खतरे को देखते हुये स्वास्थ्य एवं चिकित्सा व्यवस्था के सम्बन्ध में बैठक गांधी प्रेक्षागृह में सम्पन्न की गई।
आयोजित बैठक में जिलाध्यक्ष संजीव प्रताप सिंह, विधायक बीसलपुर रामसरन वर्मा, विधायक सदर संजय सिंह गंगवार, विधायक बरखेडा किशनलाल राजपूत, विधायक पूरनपुर बाबूराम पासवान, जिलाधिकारी पुलकित खरे, पुलिस अधीक्षक किरीट सिंह राठौर आदि उपस्थित रहे। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा कोरोना से बचाव हेतु उपलब्ध कराई जा रही स्वास्थ्य सेवाऐं व किये जा रहे कार्यों के सम्बन्ध में अवगत कराया गया। तथा सम्भावित कोरोना की तीसरी लहर जो बच्चों के लिए अधिक खतरनाक हो सकती है कि तैयारियों के सम्बन्ध में अवगत कराया गया। जिलाधिकारी पुलकित खरे ने मंत्री को अवगत कराते हुये कहा कि जनपद में 13 बाल रोग विशेषज्ञों के साथ बैठक कर बच्चों के इलाज हेतु आवश्यक व्यवस्थाऐं सुनिश्चित की जा रही हैं। बैठक में प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग एवं जन प्रतिनिधियों के सहयोग से कोरोना माहमारी को नियंत्रित करने में काफी सफलता मिली है और आगे भी टीम भावना के साथ कार्य करते हुये इस माहमारी को पूर्णतया हराने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के सहयोग से टीकाकरण हेतु जन-जन को जागरूक किया जाये और घर-घर जाकर लोगों के मन में फैली भ्रान्तियों को दूर कर टीकाकरण हेतु प्रेरित करें और उनको समझायें कि टीकाकरण कराने से किसी प्रकार का नुकसान नही हैं और जीवन की सुरक्षा के लिए अति आवश्यक है।
बैठक के उपरान्त मंत्री द्वारा गांधी स्टेडियम में संचालित टीकाकरण कैम्प का निरीक्षण किया गया। इस दौरान टीकाकरण कराने हेतु लोगों से बातचीत कर अपने आस पास के लोगों को भी टीकाकरण हेतु जागरूक करने हेतु प्रेरित किया गया। तथा एल-2 हास्पिटल की साफ सफाई व तीसरी लहर से पूर्व समस्त तैयारियां पूर्ण करने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0सीमा अग्रावाल, ज्वाइंड मजिस्ट्रेट नूपुर गोयल, अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) अतुल सिंह, अपर जिलाधिकारी न्यायिक देवेन्द्र प्रताप मिश्र, नगर मजिस्ट्रेट अरूण कुमार सिंह, जिला विकास अधिकारी, डीसी मनरेगा मृणाल सिंह, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, अधिशासी अभियन्ता जल निगम, जिला पंचायतराज अधिकारी, उपजिलाधिकारी अविनाश चन्द्र मौर्य, पुलिस क्षेत्राधिकारी, तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!