बाघों की मॉनीटरिंग के लिए आया जालीदार ट्रैक्टर

कुलदीप कुमार चौरसिया (संवाददाता)

तिकुनियां खीरी । मझरा पूरब और आसपास के वन क्षेत्रों में बाघ की लोकेशन ट्रेस करने के लिए वन विभाग ने जालीदार ट्रैक्टर मंगाया है। इससे जंगल के भीतर और वहां से बाहर आने वाले बाघ, तेंदुआ आदि जंगली जानवरों की लोकेशन जानने में मदद मिलेगी। मानसून के दौरान यह ट्रैक्टर ज्यादा मददगार होगा।

मानसून के दौरान बाघ आदि हिंसक जंगली जानवरों लोकेशन जानने और पेट्रोलिंग के लिए एक जालीदार ट्रैक्टर मंगाया है। अब वनकर्मी और स्पेशल टाइगर प्रोटेक्शन फोर्स (एसटीपीएफ) की टीम इस पर बैठकर जंगलों में पेट्रोलिंग कर सकेगी। बाघ, तेंदुए आदि जंगली जानवरों के आतंक से मझरा वन क्षेत्र के आसपास के गांवों के लोग डरे रहते हैं। इलाके में जंगली जानवर आए दिन घटनाओं को अंजाम देते रहते हैं। कुछ अरसा पहले ही जंगल में एक हिंसक बाघ की लोकेशन जानने के लिए विभाग ने प्रशिक्षित हथिनियों चंपाकली और जयमाला को लगाया था। बरसात के दौरान जंगलों में पेट्रोलिंग करना टेढ़ी खीर होता है। इसी के चलते महकमे ने यह ट्रैक्टर मंगाया है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!