पुलिस की बड़ी सफलता, तीन दिनों से लापता 10 वर्षीय उज्ज्वल सकुशल बरामद, पुलिस ने ली राहत की सांस

गौरव पांडेय (संवाददाता)

० गायब बच्चा भोजीपुरा से बरामद

० बच्चे की होशियारी से पुलिस भी स्तब्ध

० पुलिस ने बच्चे को मां-बाप को सौंपा

फरीदपुर (बरेली) । जहां एक तरफ कोरोना लहर के बीच कर्फ्यू जारी है, उसी दौरान एक मासूम के लापता होने की खबर ने पुलिस की नींद उड़ा दी । घटना 23 मई की रात की है जब एक 10 वर्षीय उज्जवल रात अकेले घर की छत ओर सो रहा था । मध्य रात्रि वह छत से नीचे उतरा और सीधे पड़ोस के एक कारखाने में जा पहुंचा । जहां वह कुछ लोहे का सामान इक्कठा कर रहा था । आहट होने पर मालिक जब मौके पर पहुंचा तो नजारा देख सन्न राह गया । बच्चे ने अपना नाम पता बताया तो उन्होंने उसे रोक लिया । जब तक वे बच्चे को उसके पिता को सौंपते बच्चा मौका देखकर वहां से भाग निकला और एक ट्रक पर बैठकर भोजीपुरा में पहुंचा । जहां एक गाड़ी धुलाई प्रेसर की दुकान पर पहुंचकर उसके मालिक को अपने बारे में झूठ जानकारी देकर वहां रुक गया । सोशल मीडिया पर चल रही खबरों के आधार पर लोगों ने बच्चे के बारे में पुलिस को सूचना दी । जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर बच्चे को सकुशल बरामद कर राहत की सांस ली ।

कोतवाली प्रभारी सुरेंद्र सिंह पचौरी ने बताया कि पूछताछ में उज्जवल मिश्रा ने स्वीकार किया कि वह चोरी करने के ही उद्देश्य से मोहन के घर में घुसा था। वह दो बार पहले लोहे की चोरी कर चुका है। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर कबाड़ खरीदने वाले कबाड़ी को भी पकड़ लिया, उसने भी चोरी का सामान दो बार खरीदने की बात स्वीकारी। सारी प्रक्रिया के बाद पुलिस ने उज्जवल मिश्रा को उसके माता-पिता को बुलाकर उनके सुपुर्द कर दिया।बरामदगी करने वाली टीम में उप निरीक्षक राजकुमार, उप निरीक्षक नवीन कुमार, हे0का0 सुधीर कुमार, आराधना मिश्रा आदि शामिल थे ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!