आज असर दिखा सकता है ‘यास’, आंधी-बारिश के आसार

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । ओडिशा और पश्चिम बंगाल में तबाही मचा रहे चक्रवाती तूफान ‘यास’ का असर आज से सोनांचल में दिखने की संभावना है। चक्रवाती तूफान ‘यास’ के आज रात तक जिले में असर दिखने की संभावना है। देर रात तेज हवाएं चलने तथा भारी बारिश की भी संभावना जतायी जा रही है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक 24 घंटे सबसे ज्यादा संवेदनशील हैं, जिसमें 35 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा के साथ बारिश और बिजली गिरने की आशंका है। 28 मई तक इसका प्रभाव बना रहेगा। मौसम विभाग के अलर्ट के बाद जिला प्रशासन ने आमजन को सतर्कता बरतने के साथ ही घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है।

वैसे चक्रवाती तूफान के असर की सुगबुगाहट मंगलवार रात से ही महसूस होने लगी जब पुरवा हवा के चलते वातावरण में उमस हावी होने लगी थी। वहीं बुधवार की सुबह से ही बादलों ने डेरा जमा लिया जबकि शाम होते-होते बूंदाबांदी भी शुरू हो गयी जो आज सुबह तक रुक-रूक जारी है। इससे दो दिन तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहेगा। बादल छाए रहेंगे, तेज हवाओं के बीच बारिश हो सकती है। रात में ठंडक भी बढ़ने के आसार हैं। हालांकि यह जिले में कितना असर डालेगा काफी हद तक स्थानीय परिस्थितियों पर ही निर्भर करता है। बुधवार को अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री सेल्सियस रहा, वहीं न्यूनतम तापमान 24.8 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि 6 नॉट की रफ्तार से हवा भी चलती रही।

मौसम वैज्ञानिक विनीत यादव के अनुसार, इस दौरान 35 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। वहीं, यास का प्रभाव 28 मई तक बना रहेगा।

वज्रपात से बचाव के लिए क्या करें, क्या न करें

● शरीर के बालों का खड़ा होना तथा त्वचा में झुरझुरी महसूस होना संकेत है कि आपके आस-पास बिजली गिरने वाली है

● रबर सोल के जूते व टायर से सुरक्षा मिलती है

● बिजली गिरने को खिड़की से न देखें

● बादलों की गड़गड़ाहट होने या बिजली चमकने पर सुरक्षित स्थान पर जाएं

● आसमान में बिजली चमकने के दौरान घर में फ्रिज, कम्प्यूटर, टेलीविजन से बिजली डिस्कनेक्ट कर दें, मोबाइल का उपयोग न करें

● बिजली चमकने के दौरान लम्बे पेड़, खंबो या धातु की वस्तुओं से दूर रहें

● वज्रपात से घायल व्यक्ति को तत्काल अस्पताल से ले जाएं

● कंक्रीट की फर्श पर न लेटें, कंक्रीट की दीवारों का सहारा न लें

● क्षतिग्रस्त इमारत में न जाएं, उबला हुआ या क्लोरीनयुक्त पानी पीएं

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!