विभागीय लापरवाही से हफ्ते भर से आधा दर्जन गांवों की बिजली आपूर्ति ठप

धर्मेन्द्र गुप्ता(संवाददाता)

-आंधी बारिश के दौरान गिरे पोल व तारों को ठीक न किये जाने से धोरपा जल निगम से पेयजल आपूर्ति भी हुआ बाधित

विंढमगंज। थाना क्षेत्र के धोरपा गांव में हफ्ते भर पहले आई तेज आंधी बारिश के दौरान धोरपा गांव में ट्रांसफार्मर सहित आधा दर्जन बिजली के खंभे गिर जाने से सीमावर्ती गांवों में अंधेरा पसरा हुआ है।बिजली की आपूर्ति न होने के कारण धोरपा पेयजल संयंत्र से होने वाली पेयजल आपूर्ति भी ठप हो गई है।ग्रामीणों का कहना है कि अधिकारियों को इस संबंध में कई बार सूचित किया गया फिर भी इसे आज तक ठीक नहीं किया गया।अमवार विद्युत सब स्टेशन से धोरपा की ओर जाने वाली मेन लाइन में जगह जगह पुराने लोहे के लगे आधा दर्जन पोल व तार टूट कर गिर गये हैं।ग्रामीणों ने बताया कि इससे हफ्ते भर से झारखंड व छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा से सटे धोरपा, हुमेलदोहर, पकरी आदि गांवों में अंधेरा पसरा हुआ है। धोरपा चौराहे से छत्तरपुर तक लगभग दो दर्जन पुराने हो चुके लोहे के पोल जंग खाने के बाद झुक गए हैं। ग्रामीणों ने कहा कि गिरे हुए आधा दर्जन पोल ठीक कर देने से बिजली आपूर्ति शुरू हो सकती है।अशोक कुमार, ज्वाला प्रसाद, रामचंद्र यादव, पुरुषोत्तम, लालमणि ने कहा कि इस संबंध में अधिकारियों को कई बार सूचना दी गई किंतु इसे आज तक ठीक नहीं किया गया।धोरपा जल संयंत्र पर तैनात जल निगम कर्मी विनोद गिरि ने बताया कि बिजली आपूर्ति न होने से गांवों में होने वाली पेयजल आपूर्ति भी इन दिनों ठप हो गई है। आंधी बारिश के दौरान धोरपा निवासी दुर्गा प्रसाद प्रजापति ने कहा कि उनके खपरैल के मकान पर गिरे ग्यारह हजार हाई वोल्टेज तार को भी बिजली कर्मियों ने नहीं हटाया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!