बुध्द पूर्णिमा पर अनुवाईयों ने की पूजापाठ, चढ़ा खीर

विनोद कुमार (संवाददाता)

इलिया।बुध्द पूर्णिमा के अवसर पर घुरहूपुर की पहाड़ी पर बुध्द अनुवाईयों की भीड़ जूटी जहां पूजा पाठ कर खीर का भोग लगाया गया।इस दौरान बुध्दम शरणम गच्छामि धम्मं शरणम गच्छामि से वातावरण गुंजायमान रहा।तथागत भगवान बुध्द का जन्म 563 ईसा पूर्व बैशाख पूर्णिमा के दिन हुआ था।बोधी वृक्ष के नीचें इनको ज्ञान प्राप्त हुआ था।जहां से मानव मात्र के कल्याण के लिए संदेश दिया।जिनका संदेश आज के परिवेश में और भी प्रासंगिक हो जाता है।क्योंकि बिना अहिंसा का मार्ग अपनाये मानव का कल्याण नहीं हो सकता।
घुरहूपुर पहाड़ी पर तथागत के भित्ति चित्र मिले थे।जहां बुध्द अनुवाईयों ने तथागत की मूर्ति रखकर पूजा पाठ किया जाने लगा। बुध्द पूर्णिमा के अवसर हर वर्ष अनुवायी पूजापाठ के साथ खीर का भोग लगाते है।इस अवसर पर बौध संस्थान के अध्यक्ष वशिष्ठ मौर्य, भंते चन्दन, श्रवण मौर्य, बेचू मास्टर, रमाशंकर राजभर, महेन्द्र, मोती लाल, चिथरु सहित आदि लोग उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!