कोन ब्लाक का ग्राम बरवाखाड़ फिर चर्चा में, चार सदस्यों ने शपथ लेने से किया इनकार

जनपद न्यूज ब्यूरो

– गौकशी के आरोप में जेल से रिहा पाने के बाद नव निर्वाचित प्रधान ने ली शपथ

– प्रधान के साथ 5 सदस्यों ने ली शपथ

– अल्पमत में गांव की सरकार

सोनभद्र । कोरोना काल में आज सोशल डिस्टेंसिंग के साथ प्रधान व सदस्यों का वर्चुल शपथग्रहण खत्म हुआ । सोनभद्र में सबसे चर्चा कोन ब्लाक के ग्राम पंचायत बरवाखाड़ की रही । कल से ही लोगों के बीच चर्चा इस बात को लेकर थी कि जेल में बंद नव निर्वाचित प्रधान शपथ ले पायेगा कि नहीं लेकिन आज जब नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान रुक्मुद्दीन चुने हुए सदस्यों के साथ शपथ लेने पहुंचा तो वहां दुर्व्यस्था भी साफ नजर आ रही थी । पहली बार शपथ लेने पहुंचे जनप्रतिनिधियों को कुर्सी तक नहीं मिल सकी । सभी को जमीन और प्लास्टिक बिछाकर जमीन पर बिठा दिया गया ।

शपथ लेने के लिए जब सदस्यों को बुलाया गया तो 4 सदस्यों ने लोली देवी वार्ड संख्या 6, विनोद यादव वार्ड संख्या-2, सचिन्दर वार्ड संख्या- 3, मु.शफीक वार्ड संख्या 8 ने शपथ लेने से मना कर दिया ।
चारों सदस्यों का कहना है कि चूंकि जीते हुए प्रधान के कृत्य से वे सभी शर्मिंदा हैं । उनका कहना हैं कि शपथ लेने से पहले जो प्रधान जेल की सलाखों के पीछे पहुंच जाए वह गांव का क्या विकास करेगा और किस बात का शपथ लेगा ।
बहरहाल नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान के साथ महज पांच सदस्यों ने ही शपथ लिया ।

इसके साथ ही गांव की सरकार ही अल्पमत मवन आ गयी । क्योंकि गांव की सरकार के गठन के लिए दो तिहाई बहुमत जरूरी है ।
बरवाखाड़ ग्राम पंचायत अल्पमत में आते ही अधिकारी भी सकते में आ गए और सदस्यों को मनाने का दौर शुरू हो गया । लेकिन बताया जा रहा है कि सदस्य अपनी बातों पर अडिग हैं और नव निर्वाचित प्रधान के साथ काम करने को तैयार नहीं ।
अब देखने वाली बात यह है कि जब गांव की कोई सरकार अल्पमत में आ जाए तो ऐसी दशा में प्रशासन क्या निर्णय लेती है ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!