आप सहित 12 बड़ी विपक्षी पार्टियों ने दिया संयुक्त किसान मोर्चा को समर्थन

फाइल फोटो

कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे किसानों को विपक्षी दलों ने एक बार फिर समर्थन दिया है । कांग्रेस समेत 12 बड़ी विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त किसान मोर्चा के ताजा फैसले का समर्थन किया है। कोरोना संकट के बीच संयुक्त किसान मोर्चा 26 मई को देश भर में प्रदर्शन करने की बात कह रही है। इस दिन किसान आंदोलन को शुरू हुए 6 महीने का वक्त पूरा हो जाएगा ।

12 विपक्षी दलों की तरफ से संयुक्त किसान मोर्चा के समर्थन में जो ताजा बयान जारी किया गया है उसमें 12 मई को लिखे गए पत्र का भी जिक्र है । इसमें नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की गई थी । कहा गया था कि कृषि कानूनों को वापस लिया जाना चाहिए । इससे आंदोलन कर रहे किसान सीमाओं से लौट जाएंगे । इसके लाखों अन्नदाताओं को महामारी का शिकार होने से बचाया जा सकता है ।

इन्होंने दिया समर्थन

सोनिया गांधी (कांग्रेस)
एचडी देवेगौड़ा (जद-एस)
शरद पवार (एनसीपी)
ममता बनर्जी (टीएमसी)
उद्धव ठाकरे (शिव सेना)
एमके स्टालिन (डीएमके)
हेमंत सोरेन (झामुमो)
फारूक अब्दुल्ला (JKPA)
अखिलेश यादव (समाजवादी पार्टी)
तेजस्वी यादव (RJD)
डी राजा (सीपीआई)
सीताराम येचुरी (CPI-M)

इनके 12 के अलावा आम आदमी पार्टी (आप) ने भी किसानों के प्रदर्शन के आवाहन का समर्थन किया है। इन सभी पार्टियों ने मांग उठाई है कि किसान संगठन संग सरकार को फिर से बातचीत करनी चाहिए।

कोरोना लॉकडाउन के बीच भी हजारों किसान रविवार को हरियाणा के करनाल से दिल्ली के लिए रवाना हुए, जहां वे 26 मई को ‘काला दिवस’ के रूप में मनाने की योजना बना रहे हैं। इसी के साथ, पंजाब के संगरूर से भी कई लोगों के दिल्ली के लिए रवाना होने की खबरें सामने आई हैं ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
Back to top button