बारिश के तेज बहाव में ढह गया पुलिया का पाया, बड़ी दुर्घटना की आशंका

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

महुली-करहिया संपर्क मार्ग पर जोरकहू गांव में 6.400 किलोमीटर पिलर के पास पुलिया के अस्तित्व पर खतरा

विंढमगंज थाना क्षेत्र के महुली करहिया संपर्क मार्ग पर जोरकहू गांव में 6.400 किलोमीटर पिलर के पास स्थित पुलिया का पाया ढह जाने से यहां खतरे की घंटी बजनी शुरू हो गई है। करीब ढाई साल पहले प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत ग्रामीण अभियंत्रण विभाग की ओर से इसका निर्माण कार्य पूरा कराया गया था।

ग्रामीणों ने बताया कि लगभग एक वर्ष पूर्व ही पुलिया के पाये में दरार आ गया था। दो दिन पहले आई तेज बारिश के बहाव में पहले से क्षतिग्रस्त हो चुकी पुलिया का पाया ढह गया। तीन पायों पर निर्मित पुलिया के बीच का पाया ढह जाने के कारण यहां से भारी वाहनों के गुजरने पर खतरा मंडराने लगा है। दुद्धी तहसील क्षेत्र के सुदूर एवं जंगल से आच्छादित दर्जन भर गांवों को रीवा-रांची राजमार्ग से जोड़ने वाले मार्ग पर पुलिया का पाया निर्माण के कुछ ही दिनों बाद ध्वस्त हो जाने से ग्रामीणों में आक्रोश है। ग्रामीणों ने कहा कि संबंधित कार्यदायी संस्था द्वारा घटिया निर्माण सामग्री प्रयोग करने के कारण पुलिया का अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। क्षेत्र के डूमरा, कोरगी, पतरिहा, जोरकहू, करहिया, बासीन, औराडंडी, घिचोरवा आदि दर्जन भर गांवों के लोग दुद्धी तहसील मुख्यालय पर जाने के लिए इसी मार्ग का इस्तेमाल करते हैं।

डूमरा ग्राम प्रधान रामनाथ एवं पतरिहा ग्राम प्रधान प्रतिनिधि बुंदेल चौबे ने कहा कि “पुलिया का पाया ढह जाने से इधर से भारी वाहनों के गुजरने पर बड़ा खतरा पैदा हो सकता है।इन्होंने कहा कि निर्माण के दो वर्ष बाद ही पूरी सड़क जहां तहां से उखड़ गई है, जिसमें बड़े बड़े गढ्ढे बन गए हैं। यहां आय दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं।”

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
Back to top button