नोडल अधिकारी ग्रा0पं0 डाभा पहुँचे, प्रवासी मजदूरों सहित निगरानी समिति से जाना हाल

विवेकानंद मिश्रा(संवाददाता)

शाहगंज। गांव में संक्रमण को लेकर बेहद संजीदा दिखे नोडल अधिकारी मोहम्मद मुस्तफा के साथ जिलाधिकारी का काफिला ग्राम पंचायत डाभा में पहुंचा, और कोविड-19 के संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गांव की ओर रुख किया।उस समय संबंधितओं में हड़कंप की स्थिति रही।

जिलाधिकारी अभिषेक कुमार ने सबसे पहले ग्राम पंचायत में पहुंचकर प्रवासी मजदूरों के बारे लेखपाल बंदना मलिक से जानकारी प्राप्त की ,प्रवासी मजदूरों की कुल संख्या ,तथा इन लोगों में कोविड-19 के लक्षण, कोविड-19 की मेडिकल किट आदि का वितरण हुआ है कि नहीं, और कितने घरों का सर्वे किया जा चुका है, जिस पर लेखपाल द्वारा 4 दिन पहले सर्वे करने की बात कही गई।
जिलाधिकारी ने कहा कि जल्द से जल्द गांव का सैनिटाइज हो जाना चाहिए ,और घर-घर प्रवासी मजदूरों की टेस्टिंग निगरानी समिति का समय-समय पर सक्रिय रुप से कार्य करना आवश्यक है।इन्होंने एएनएम चंचला श्रीवास्तव से 60 प्लस वरिष्ठ नागरिकों की संख्या तथा प्रतिदिन 50 घरों का सर्वे करने के लिए कहा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नेम सिंह ने बताया कि इस गांव में कोविड-19 के संदिग्ध मरीज नहीं है ,ऐसी स्थिति में यहां कोविड-19 के किट उपलब्ध नहीं हुए।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नेम सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी के गांव भ्रमण का मुख्य उद्देश्य ग्राम निगरानी समिति सक्रिय रुप से गांव स्तर पर कार्य कर रही है अथवा नहीं इसी का जमीनी सत्यापन किया गया।इस अवसर पर सदर एसडीएम केसी पांडेय ,घोरावल तहसील दार सुरेश चंद्र शुक्ला, लेखपाल बंदना मलिक, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ सौरभ सिंह एवं फार्मासिस्ट वीरेंद्र सिंह, एएनएम चंचला श्रीवास्तव तथा आंगनवाड़ी और आशा उपस्थित रहे।
अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!