कोविड-19 : तीसरी लहर के प्रकोप से बच्चों व महिलाओं को बचाने की कवायद शुरू

राहुल शुक्ला (संवाददाता)

शाहजहांपुर । जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों एवं महिलाओं के बचाव हेतु योजना बनाने के लिए बैठक का आयोजन कर तैयारियां शुरू कर दी है। जिलाधिकारी द्वारा आज न्यू कलेक्ट्रट सभागार में निजी एवं प्राइवेट हाॅस्पिटलों के शिशु रोग विशेषज्ञयों एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ डाक्टरों के साथ समीक्षा की। इस दौरान उन्होने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को बचाने हेतु कोविड वार्ड तैयार किए जाने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। इसके लिए जिला चिकित्सालय में 50 बेड एवं स्वास्थ केन्द्र खुटार व जलालाबाद में 50-50 बेड अभी से व्यवस्था करने को कहा है। उन्होने कहा है कि यदि कोरोना की तीसरी लहर आती है तो उसपर काबू पाने लिए पहले से ही रणनीति तैयार की जा रही है।
उन्होंने कहा कि बैठक में डाक्टरों के साथ चर्चा की गयी है कि बच्चों को संक्रमित होने के उपरान्त बच्चों के इलाज के लिए क्या कार्यवाही की जा सकती है। यदि तीसरी लहर आती है तो किस प्रकार नियंत्रित किया जा सकता है और बच्चों के लिए किस-किस प्रकार की दवाओं की आवश्यकता पड़ सकती है। अगर भविष्य में कोविड-19 की तीसरी लहर आती है तो कोविड से संक्रमित बच्चों से मिलने व उनके पास रहने के लिये पैरामेडिकल स्टाॅफ के साथ-साथ उनके मां-बाप के रूकने की व्यवस्था किस प्रकार से की जाए। इस बात की भी चर्चा की गयी कि अगर एक जगह पर बच्चों का ट्रीटमंेट की व्यवस्था कर दी जाएं तो उसमे निजी क्षेत्र के चिकित्सक क्या सेवाएं रहेंगी है। चाइल्ड के डाक्टर द्वारा क्या सेवाएं दी जा सकती है। निजी क्षेत्र के चिकित्सालयों को सुझाव दिया गया कि चिकित्सक हेतु सहयोग देना चाहते है तो वह अपना प्रस्ताव दे सकते है ताकि समर्पित हाॅस्पिटल को सुरक्षित कर दिया जाये। इसके साथ ही नाॅन कोविड ट्रीटमेंट करने एवं कोविड पेशेंट का ट्रीटमेंट करने पर भी चर्चा की गयी। संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत निजी एवं प्राइवेट हाॅस्पिटलो के पैरामेडिकल स्टाफ की वर्कशाप कराये जाने को कहा गया। कहा गया है कि पैरामेडिकल स्टाॅप की इस प्रकार से तैयारी कराई जाए कि बच्चों को उस समय किस प्रकार से ट्रीटमेंट करना है। चिकत्सकों द्वारा सुझाव दिया गया कि अधिकतर हम लोग अपना टेस्ट करा लेते है और बच्चों का कोविड टेस्ट नहीं करवाते है। बच्चों का भी कोविड टेस्ट करवा लेना चाहिए।
इस अवसर पर नगर आयुक्त संतोष शर्मा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन सेवक द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 गिरिजेश चैधरी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, नगर मजिस्ट्रेट सहित अन्य अधिकारी व निजी हाॅस्पिटल के डाक्टर उपस्थित रहें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!