गेंहूँ खरीद में अनियमितता का आरोप लगा किसानों ने दिया चतरा हाट शाखा पर एकदिवसीय धरना

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

शासनादेश को ठेंगा दिखाकर किसानों को जलील भी कर रहे हैं बेलगाम केन्द्र प्रभारी

● पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच ने दी बड़े आंदोलन की चेतावनी

सोनभद्र । धान खरीद मे दुर्दशा झेलने के बाद भी सोनभद्र के किसानों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार किसानों की आय दोगुनी करने का दावा करते आ रहे हैं। गेंहू खरीद में धांधली को रोकने के लिए शासनादेश जारी करते हुए आनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने तथा टोकन के अनुसार खरीद की बात शासन स्तर पर करते हुए किसानों को तौल के बाद पावती रसीद देते हुए तीन दिन मे भुगतान करने का भी निर्देश शासन ने दे रखा है, लेकिन सोनभद्र के केन्द्रों पर शासनादेश तथा मुख्यमंत्री के आदेश को चुनौती देते हुए मनमानी खरीद किये जाने का चलन आज भी बदस्तूर जारी है। इस क्रम मे बता दें कि चपईल गांव के किसान उदय प्रकाश का टोकन 19 अप्रैल का था लेकिन चतरा हाट शाखा पर उनका नंबर 15 मई तक नहीं आ सका था। 15 मई को चतरा हाट शाखा पर पहुंचे पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के नेता अभय पटेल ने जब मौके से जिलाधिकारी को फोन पर बताया तब जाकर उदय प्रकाश का गेहूं तौल कराया गया लेकिन किसान को गेहूं की पावती रसीद नही दी गई। जिससे नाराज किसान नेता अभय पटेल किसानों के साथ आज एकदिवसीय धरने पर बैठ गए।

अभय पटेल ने बताया कि “चतरा के अलावा भी सभी केन्द्र पर टोकन तिथी से एक महीने खरीद विलंब से की जा रही है तथा किसी किसान को पावती रसीद भी नहीं मिलती। बाद में मनमानी कटौती करके पैसा कम करके खाते मे भेज दिया जाता है।”

धरने पर बैठने की सूचना पर प्रशासन हरकत में आया। उपजिलाधिकारी सदर के0एस0 पाण्डेय, सीओ सदर आशिष मिश्रा तथा पन्नूगंज इंस्पेक्टर भुवनेश्वर पाण्डेय एक बटालियन पीएसी केे साथ चतरा हाट शाखा पर पहुंच कर किसानों की समस्या सुनते हुए निस्तारण का भरोसा देने केे साथ-साथ अनियमितता की जांच कराने का भी आश्वासन दिया।

किसानों के समर्थन में पहुंचे पूर्वांचल नव निर्माण मंच के अध्यक्ष श्रीकांत त्रिपाठी ने चार सूत्री मांग पत्र भी उपजिलाधिकारी को सौंपा। मांग पत्र के माध्यम से श्रीकांत त्रिपाठी तथा अभय पटेल ने गेहूं तौल के बाद तत्काल पावती रसीद देना सुनिश्चित करने की मांग के साथ टोकन तिथी पर खरीद कराने की मांग की । नेता द्वय ने केंद्र पर कटौती का भी आरोप लगाते हुए कटौती बंद कराने तथा शासनादेश के अनुसार समय से गेंहू का भुगतान सुनिश्चित कराने की मांग की ।

पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के संरक्षक मंडल अध्यक्ष वरिष्ठ समाज सेवी राम सकल चौबे तथा मंच के नेता गिरीश पाण्डेय ने कहा कि कोरोना तथा लाॅकडाउन के आड़ मे बेलगाम केन्द्र प्रभारी किसानों को परेशान तथा जलील करते हुए दोहन कर रहे हैं, जिसे कत्तई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। नेताओं ने कहा कि यदि व्यवस्था को ठीक नहीं किया गया तो किसानों के साथ जिले मुख्यालय पर विशाल धरना-प्रदर्शन किया जायेगा, जिसके लिए जिला प्रशासन जिम्मेदार होगा।

इस दौरान किसान सोनू सिंह, विमलेश पटेल, संतोष, गोविन्द सिंह, अनंत देव पाण्डेय, कृष्ण कुमार सिंह, लल्लन लाल, राम अवध सिंह, कुंती, जयमनी सिंह, विजेन्द्र सिंह, रामवती, राहुल, अशोक, शिवम त्रिपाठी, बागेश्वरी, भगवंत देव, सुर्य नारायण सिंह, अनंत, दया शंकर सिंह, अखिलेश कुमार, राजेन्द्र सिंह, राकेश कुमार, बच्चन, अमर सिंह, श्रीराम तथा तेजभान सिंह उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!