कोरोना महामारी से छुटकारा हेतु घरों में पांच लाख हनुमान चालीसा का पाठ 18 को

कृपाशंकर पांडे (संवाददाता)

ओबरा। कोरोना महामारी के विनाश के लिए मंगलवार को पूरे काशी प्रांत में एक साथ सभी घरो में हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कुटुंब प्रबोधन गतिविधि की ओर से यह आह्वान किया गया है।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ रेनुकूट के जिला संघ चालक केशरी पुरवार ने बताया कि 18 मई मंगलवार को प्रातः 8:30 बजे से यह पाठ प्रारंभ हो जाएगा । देश के प्रमुख संतों का मत है कि हनुमान जी के स्मरण एवं हनुमान चालीसा के पाठ से इस रोग का विनाश संभव है।
जिला संघ चालक कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना जिसमें अनेक व्यक्तियों ने प्रियजनों को खो दिया है। जिसने मानवता पर सैकड़ों वर्षों बाद सबसे अधिक कहर ढाया हुआ है।ऐसी विपत्ति काल में मनुष्य अपने आराध्य को स्मरण करता है। काशी प्रान्त ने विश्व के सबसे बड़े सामूहिक अनुष्ठान श्री हनुमान चालीसा के सवा पांच लाख पाठ का संकल्प लिया है। इस अनुष्ठान हेतु देश भर के सन्त- महात्माओं, उद्यमी, सामाजिक कार्यकर्ताओं ने लोगों से आह्वान किया है कि इस महामारी से मानव समाज की रक्षा के लिए हम सभी को यह पाठ कर संकट मोचक श्री हनुमान जी महाराज जी से प्रार्थना करना चाहिए। विभाग कुटुंब प्रबोधन प्रमुख कथा वाचक दिलीप कृष्ण भारद्वाज, पूज्य संत भिखारी बाबा आदि ने इस पुनीत कार्य हेतु सभी धर्मावलंबियों, अनेक पीठाधीश्वरों, मनीषियों, आचार्यों, समाजसेवी संस्थाओं तथा गणमान्य लोगों ने समर्थन एवं आशीर्वाद प्रदान किया है।
श्री हनुमान जी इस सृष्टि के प्रत्यक्ष देवता हैं, सभी प्रकार के दु:ख, विपत्ति व महामारियों के मोचक हैं, इसीलिए उन्हें संकट मोचन भी कहा जाता है। उनके सामूहिक आराधना से निश्चित ही इस भीषण आपदा से मुक्ति मिलेगी, ऐसा जनमानस में विश्वास है।

अनुष्ठान का स्वरूप:
विश्व के सबसे बड़े इस अनुष्ठान सम्मिलित होने वाले लोगों को पांच बार “श्रीराम जय राम जय जय राम” महामंत्र का जाप कर 11 बार श्री हनुमान चालीसा का पाठ करना है इसके पश्चात् पुनः पांच बार “श्रीराम जय राम जय जय राम” का जप कर यह अनुष्ठान पूर्ण करना है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!