प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शहाबगंज की एमरजेंसी सेवा ठप्प

विनोद कुमार (संवाददाता)
* आपातकालीन सेवा का नहीं मिल रहा लाभ

शहाबगंज। कोरोना वायरस ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की ओपीडी सेवा के बाद आपातकालीन सेवा भी बंद कर दिया है।जिससे दुर्घटना ग्रस्त या मारपीट कर आये लोगों को मेडिकल कराने के लिए जिलाचिकित्सालय की शरण लेना पड़ रहा है।जिससे आमजन को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। जिससे सरकार की स्वास्थ्य ब्यवस्था पर ही प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रहा है।
पंचायत चुनाव के समय बड़े पैमाने पर लोग शर्दी खांसी जुखाम व सांस लेने की समस्या से ग्रसित थे।लेकिन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की ओपीडी सेवा बंद कर कोरोना जांच व कोविड 19 टीकाकरण तक ही सिमित कर लिया।जिसका नतीजा रहा कि झोलाछाप डाक्टरों से इलाज कराना पड़ा।वहीं समुचित इलाज नहीं मिलने के कारण लोगों जान भी गवानी पड़ी।लेकिन स्वास्थ्य विभाग इससे लापरवाह बना रहा और आमजन की जान भगवान भरोसे छोड़ दिया।अब प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की आपातकालीन सेवा पुरी तरह ठप्प हो गयी है।प्रभारी चिकित्साधिकारी डा० हरिशचन्द्रा कोरोना पाजिटिव होने के कारण होम आईसुलेट हो गये है। वही सेकेंड डाक्टर संदीप गौतम की ड्यूटी कोविड सेंटर मुगलसराय में लगने के कारण अस्पताल का संचालन फर्मासिस्ट व वार्ड ब्वाय के सहारे हो गया है। जिसका परिणाम है कि छोटी से छोटी दुर्घटना में इलाज कराने के लिए जिलाचिकित्सालय जाना पड़ रहा है। जिससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश ब्याप्त है।

ग्रामीण संतोष मिश्र, रत्नेश यादव, लियाकत, आदर्श, बाबूलाल ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए एमरजेंसी व ओपीडी सेवा बहाल कराने की मांग किया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!