जानें इन पांच मसालों से बने काढ़े के बारे में, जिसे पीने से न सिर्फ इम्युनिटी बढ़ती है बल्कि बीमारियां होती हैं दूर

कोरोना वैक्सीन आने के बाद भी अपनी इम्युनिटी को बनाए रखना एक बहुत बड़ी चुनौती है। खासतौर पर गर्मी के मौसम के बीच होने वाली अचानक बारिश से गले में इंफेक्शन और खांसी-जुकाम की समस्या शुरू हो जाती है। इससे बचाव के लिए बहुत जरूरी है कि आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन किया जाए। आज हम आपको बता रहे हैं, पांच मसालों से बने काढ़े के बारे में, जिसे पीने से न सिर्फ इम्युनिटी बढ़ती है बल्कि इससे आप बीमारियों से भी बचे रहते हैं।

काढ़ा बनाने की सामग्री:
8-10 तुलसी का पत्ता – 2-3 लौंग – 1 से 2 दालचीनी की छोटी स्टिक – आधा चम्मच हल्दी – 2 चम्मच शहद

काढ़ा बनाने का तरीका:
सबसे पहले तुलसी के पत्ते, दालचीनी, लौंग और हल्दी को अच्छी तरह पीस लें। अब इस मसालों को पहले भूनकर अलग रख लें। इसके बाद एक पैन में 1 से 2 कप पानी गर्म करें और फिर इन सभी मसालों को उसमें डाल दें। इसे 15-20 मिनट तक उबलने के लिए छोड़ दें। फिर इस पानी को छान लें और हल्का ठंडा होने के लिए छोड़ दें। स्वाद के लिए आप इसमें शहद मिला सकते हैं।

कब पिएं यह काढ़ा:
-इम्युनिटी मजबूत करने के लिए और सर्दी-जुकाम और गले के खराश को दूर करने के लिए आप इस काढ़े को रोजाना कम से कम 2 बार जरूर पिएं। इससे छाती में मौजूद बलगम भी खत्म हो जाएगी और सांस सही से ना ले पाने की समस्या भी कम हो जाएगी। इसके अलावा यह काढ़ा गले के दर्द से भी राहत दिलाने में मदद करता है।
-इम्युनिटी बढ़ाने के लिए अन्य टिप्स:
– इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जरूरी है कि अच्छी नींद ली जाए। रोजाना कम से कम 9 घंटे की नींद लेनी चाहिए।
– दही के सेवन से भी इम्यून पावर बढ़ती है। इसके साथ ही यह पाचन तंत्र को भी बेहतर रखने में मददगार होती है। – कच्चा लहसुन खाना भी इम्युनिटी को बूस्ट करने में सहायक होता है।
– संतुलित आहार, नियमित एक्सरसाइज, हाई प्रोटीन डाइट, विटामिन सी, प्राणायाम, श्वास-प्रश्वास पर नियंत्रण, अनुलोम विलोम, कपाल भाति आदि इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए सहायक होते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!