लखनऊ में आज नहीं हुआ ईद के चांद का दीदार, शुक्रवार को मनाई जाएगी ईद का त्योहार

ईद का चांद देखने के लिए सभी बेताब हैं। भारत और सऊदी अरब समेत खाड़ी देश मंगलवार से ही चांद का दीदार करने की कोशिशें कर रहे हैं। मंगलवार को चांद नजर नहीं आया, जिसके बाद बुधवार को भी चांद देखने की लोग कोशिशें करते रहें। अब गुरुवार को 30वां रोजा रखा जाएगा और शुक्रवार को ईद मनाई जाएगी । यह जानकारी लखनऊ की मरकजी चांद कमेटी और शिया चांद कमेटी ने दी है।

इस्लामिक मान्यताओं के अनुसार, रमजान के दौरान रोजे रखने वालों और नमाज अदा करने वालों के अल्लाह सारे गुनाह माफ कर देता है। वहीं ईद-उल-फितर के साथ रोजे खत्म हो जाते हैं। ईद-उल-फितर के दिन लोग सुबह नए कपड़े पहनकर नमाज अमन और चैन की दुआ मांगते हैं। इस दिन लोग आपस में गले मिलकर एक-दूसरे को ईद की बधाई देते हैं। कल मंगलवार को सउदी अरब में लोग चांद का दीदार करते रह गए, लेकिन चांद का दीदार न हो पाया। इसलिए वहां 13 मई को ईद मनाई जाएगी।

7.30 PM : लखनऊ में ईद के चांद का दीदार नहीं हुआ है। इसलिए अब 14 मई को ही ईद मनाई जाएगी। गुरुवार को होगा 30वां रोजा रखा जाएगा और शुक्रवार को मनाई जाएगी ईद। यह जानकारी लखनऊ की मरकजी चांद कमेटी और शिया चांद कमेटी ने दी है।

Moon not sighted in Lucknow as per Markazi Chand Committee, Farangi Mahal of Lucknow
Moon not sighted in Lucknow as per Markazi Chand Committee, Farangi Mahal of Lucknow
According to Maulana Khalid Rasheed of Markazi Chand Committee Farangi Mahali, the Shawwal crescent was not seen in UP capital (Lucknow) today. Tomorrow i.e. Thursday May 13 will be the thirtieth fast of Ramadan and Eid-ul-Fitr will be celebrated on Friday,

ईद कैसे मनाई जाती है:
इस पावन दिन सुबह उठकर सबसे पहले नमाज अदा की जाती है।
इसके बाद सभी को ईद की मुबारकबाद दी जाती है।
इस त्योहार के दिन मुस्लिम समुदाय के लोग मस्जिदों में नमाज अदा करते हैं, इस बार कोरोना वायरस की वजह से घर में रहकर ही नमाज अदा की जाएगी।
ईद के पावन दिन मुस्लिम लोग जरूरतमंद लोगों की मदद भी करते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!