कोरोना संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की हाईलेवल बैठक

देश में एक तरफ कोरोना संक्रमण तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है तो वहीं कई राज्यों में दवा और आक्सीजन की कमी है। देश में कोरोना संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को हाईलेवल बैठक की है । इस बैठक में देश में ऑक्सीजन और दवा की सप्लाई पर विस्तृत चर्चा हुई है । इस दौरान पीएम मोदी को बताया गया कि सरकार कोविड के प्रबंधन में इस्तेमाल होने वाली दवाओं की आपूर्ति पर भी सक्रिय रूप से निगरानी रख रही है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन कर कोविड 19 को लेकर राज्य के हालात की जानकारी ले रहे हैं । प्रधानमंत्री की ओर से मुख्यमंत्रियों की मांगों पर केंद्र सरकार के स्तर से मदद भी सुनिश्चित कराई जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब, कर्नाटक, बिहार और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों से रविवार को फोन पर बात की।

प्रधानमंत्री ने राज्य में इलाज के संसाधनों, ऑक्सीजन, आईसीयू बेडों आदि के बारे में जानकारी ली मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री को रिकवरी रेट, कोरोना कर्फ्यू, अस्थायी कोविड अस्पताल, जनजागरुकता अभियान, वैक्सिनेशन, ऑक्सीजन प्लांट्स आदि के बारे में जानकारी दी ।प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों को आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार संकट की इस घड़ी में उनकी हर संभव मदद करेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने वैक्सीनेशन की दर बढ़ाने पर जोर दिया ।

बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज होने के बाद से प्रधानमंत्री मोदी लगातार लगभग हर दिन मुख्यमंत्रियों को फोन कर राज्य के हालात की जानकारी लेते हैं। वह कोरोना प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लगातार संपर्क में रहते हुए इलाज आदि सुविधाओं का अपडेट लेते हैं ।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके भूटानी समकक्ष लोटे त्सरिंग ने मंगलवार को दोनों देशों पर कोविड-19 महामारी के प्रभाव और वायरस की हालिया लहर के खिलाफ उनके प्रयासों पर चर्चा की । दोनों नेताओं ने टेलीफोन पर बातचीत की और वायरस से जुड़े तमाम महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की ।

भूटान के प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी की वर्तमान लहर से लड़ने में भारत और भारतवासियों के साथ एकजुटता दिखाई । हाल के दिनों में भारत कोरोनावायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है और अब तक देश में 2,29,92,517 लोग संक्रमित हो चुके है । संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 2,49,992 तक पहुंच चुकी है ।फिलहाल भारत में 37,15,221 सक्रिय मामले हैं ।

प्रधानमंत्री मोदी ने भूटान सरकार और भूटानवासियों को उनकी सद्भावनाओं और समर्थन के लिए धन्यवाद दिया । उन्होंने भूटान नरेश के नेतृत्व में महामारी के खिलाफ जंग में भूटान की भूमिका की सराहना की और महामारी के खिलाफ किए जाने वाले प्रयासों के लिए शुभकामनाएं दीं। दोनों नेताओं ने सहमति व्यक्त कि मौजूदा संकट से भारत और भूटान के बीच विशेष मैत्री को और बढ़ावा दिया जा सकता है। दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंध आपसी समझ, आपसी सम्मान, साझा सांस्कृतिक विरासत और लोगों के बीच सौहार्द पर आधारित हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!