कोरोना महामारी: सैनेटाइजेशन दूर, नहीं हो रही गांवों की साफ-सफाई

आनंद कुमार चौबे (संवाददात)

शासन के निर्देश पर भी गांवों में नही कराया गया सैनिटाइजेशन

● गांवों में बजबजा रही नालियां, फैला गन्दगी का अम्बार

सोनभद्र । जिले में कोरोना वायरस की दूसरी लहर काफी घातक प्रतीत हो रही है। जनपद में कोरोना के कहर से प्रतिदिन कोरोना मरीजों के मौत का सिलसिला जारी है। दिन-ब-दिन बढ़ते कोरोना संक्रमण से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने यूपी में 17 मई तक के लिए आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की है, ताकि संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए शहर से लेकर गांव तक वृहद स्तर पर सैनिटाइजेशन एवं साफ-सफाई का कार्य कराया जा सके। लेकिन जिम्मेदारों की उदाशीनता से इस वैश्विक महामारी में न तो गांवों में कहीं सैनेटाइजेशन कराया जा रहा है और न हीं साफ-सफाई, गांवों में तैनात सफाईकर्मी भी जिम्मेदारी से मुंह मोड़े हुए हैं।

देश और प्रदेश के साथ ही जिले में भी लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। किंतु विडंबना है कि जिले में अभी तक सैनिटाइजेशन का अता-पता नहीं है। आलम यह है कि गांवों में गंदगी का अम्बार फैला हुआ है और गांवों में तैनात सफाई कर्मियों के दर्शन नहीं हो रहे हैं। जिम्मेदार अधिकारियों की उदासीनता के चलते सरकार की मंशा पर पानी फिरता नजर आ रहा है। क्षेत्र के जागरूक ग्रामीणों ने मीडिया के माध्यम से जिले के उच्चाधिकारियों से गांव में साफ-सफाई कराए जाने के साथ ही सैनिटाइजेशन कराने की मांग की है। इसी को लेकर जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह ने गत दिनों 5 सफाईकर्मियों को निलंबित भी किया था लेकिन बावजूद उसके अब भी सफाईकर्मी अपनी जिम्मेदारियों मुँह मोड़कर से भाग रहे हैं।

डीपीआरओ ने संभाली सेनेटाइजेशन की कमान: गांव में कोरोना का खतरा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में गांव में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए शासन ने गांवों में सेनेटाइज और सफाई अभियान चलाए जाने का निर्देश दिया है लेकिन अब तक जिम्मेदारों द्वारा इन आदेशों की धज्जियाँ उड़ाई जा रही थी। ऐसे में डीपीआरओ विशाल सिंह ने स्वयं सेनेटाइजेशन की कमान संभाल ली है। अब डीपीआरओ खुद गांवों में सेनेटाइजेशन कार्य की मॉनिटरिंग करेंगे।

जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह ने बताया कि “सफ़ाई कर्मियों की पंचायत चुनाव में ड्यूटी के कारण सेनेटाइजेशन कार्य थोड़ा धीमा पड़ गया था लेकिन आज से जिले के सभी एडीओ पंचायत प्रतिदिन पाँच-पाँच गाँवों में चल रहे सेनेटाइजेशन कार्य की मॉनिटरिंग करेंगे। वहीं गाँवों से सफाईकर्मियों द्वारा कार्य में शिथिलता की शिकायत मिलने पर पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।”



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!