प्रतिबन्ध के बावजूद लगी साप्ताहिक बाजार, कोरोना कर्फ्यू की उड़ी धज्जियाँ

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

विंढमगंज । झारखंड व छत्तीसगढ़ के बॉर्डर पर स्थित स्थानीय थाना क्षेत्र में आज सोमवार को लगने वाला बाजार में भी कोरोना कर्फ्यू का खुलेआम धज्जियां उड़ती रही हैं । जबकि कोविड-19 के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए प्रदेश सरकार व सुप्रीम कोर्ट के द्वारा बार-बार बताया जा रहा है कि ग्रामीण स्तर के हाट बाजारों को भी बंद रखना है। जबकि स्थानीय थाना प्रभारी के द्वारा प्रतिदिन दूरभाष यंत्र से व्यापारियों को कोरोना कर्फ्यू के गाइडलाइन को बताया व समझाया जा रहा है फिर भी बाजारों में व्यापारी व ग्रामीण के द्वारा खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है ।

इस महामारी को लेकर लोग जरा भी सतर्क नहीं है। ना तो मास्क पहन रहे हैं और ना ही शारीरिक दूरी का पालन कर रहे हैं । यहां तक कि दुकानदार भी अपने-अपने दुकान व प्रतिष्ठानों के सामने दुकान को बंद करके खड़े अवश्य मिल जाएंगे। आने जाने वाले ग्रामीण ग्राहकों से क्या चाहिए, क्या चाहिए पूछ कर दुकान के दरवाजा को खोल अंदर घुसा कर खरीद बिक्री करने में मशगूल है। आज हाट बाजार में सुबह से ही ग्रामीणों की भीड़ सैकड़ों की संख्या में उमड़ पड़ी। कोरोना संक्रमण का खतरा इस भीड़ भाड़ के वजह से बढ़ता जा रहा है। लोग स्थानीय प्रशासन की उदासीन रवैया का भरपूर लाभ उठा रहे हैं।

वही थाना प्रभारी विनोद कुमार सोनकर ने बताया कि उन्हें कौन-कौन सी दुकानें खुलेगी कौन-कौन सी बंद होगी इसका कोई गाइडलाइन प्राप्त नहीं हुआ है। जितना गाइडलाइन प्राप्त हुआ है उन गाइड लाइनों को स्थानीय व्यापारियों से प्रतिदिन दूरभाष यंत्र से फुट पेट्रोलिंग करते हुए बताया जा रहा है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!