सोनांचल में रिकवरी रेट में सुधार, लेकिन मौत का आँकड़ा चिंताजनक

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिले में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। कोरोना संक्रमण की दूसरी हवा इतनी खतरनाक हो चली है कि प्रतिदिन संक्रमित मरीजों की जान जा रही है। हालांकि जिले के लिए एक राहत देने वाली खबर भी है। जहाँ संक्रमित की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है वहीं ठीक होने वाले मरीजों का आँकड़ा भी तेजी से बढ़ा है। बीते 24 घंटे में 489 संक्रमितों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं जब से कोरोना की दूसरी लहर ने कहर बरपाना शुरू किया है तब से आज पहली बार जिले में एक्टिव केस का आँकड़ा 3 हजार के नीचे आया है, जिनमें से 158 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। वहीं 2227 लोग होम आइसोलेट हैं। अभी तक 14 हजार से अधिक संक्रमित मिल चुके हैं। जिनमें से 11 हजार से अधिक संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं कोविड-19 का रिकवरी रेट 79.60 प्रतिशत हो गया है।

कोरोना की दूसरी लहर लोगों के लिए काफी घातक साबित हो रही है। जिले में 9 अप्रैल से जो मौत का सिलसिला शुरू हुआ वो अब तक नहीं थमा है। आँकडों पर नजर डाली जाए तो मई की शुरुआत से अब तक कोरोना ने 30 लोगों की जिंदगी छीन ली। जबकि इस समय जिले में संक्रमितों की संख्या 14 हजार पार कर गई है। बीते 24 घंटे में कोरोना ने तीन महिला समेत 5 मरीजों की जान ले ली जबकि 264 नए संक्रमित मिले हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार गत वर्ष से अब तक कुल 189 संक्रमित मरीजों की जान कोरोना ने ले ली है। यह खतरनाक स्थिति पिछले साल भी नहीं थी। आलम ये है कि पिछले एक सप्ताह के दौरान ही 30 से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, लोढ़ी स्थित एल-2 में इलाज के दौरान तीन मरीजों की मौत हो गयी जिसमें शाहगंज निवासी 39 वर्षीय महिला, बरवाटोला-चोपन निवासी 60 वर्षीय वृद्ध तथा गिधिया-कोन निवासी 61 वर्षीय वृद्ध की मौत हो गई। जबकि खैराही-करमा निवासी 48 वर्षीय महिला व हिंडाल्को कॉलोनी निवासी 47 वर्षीय महिला की वाराणसी के अलग-अलग निजी अस्पतालों में इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी। सभी मृतकों का सरकारी गाइडलाइन के तहत शव का अंतिम संस्कार किया गया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!