महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देखमुख ने दिया इस्तीफा, 100 करोड़ वसूली का था आरोप

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के 100 करोड़ वसूली से जुड़े आरोपों के मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देखमुख ने इस्तीफा दे दिया है। मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने गृहमंत्री अनिल देशमुख पर वाजे को 100 करोड़ की हफ्तावसूली का टारगेट देने का आरोप लगाया था । इसके बाद बॉम्बे हाईकोर्ट ने मामले में जनहित याचिका सुनवाई करते हुए आज बड़ा फैसला सुनाया था। हाईकोर्ट ने इस पूरे प्रकरण की जांच सीबीआई को सौंप दी।

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि हाईकोर्ट के ऑर्डर के बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख ने शरद पवार और पार्टी नेताओं से मुलाकात कर कहा कि वह अपने पद पर नहीं रहना चाहते हैं । वह अपना इस्तीफा सौंपने के लिए मुख्यमंत्री के पास गए थे । पार्टी ने मुख्यमंत्री से उनका इस्तीफा स्वीकार करने का अनुरोध किया है।

सूत्रों के मुताबिक दिलीप वलसे पाटिल नए गृहमंत्री हो सकते हैं।वलसे शरद पवार के काफी करीब हैं। वहीं देशमुख के पास एक्साइज डिपार्टमेंट भी था. सूत्रों के मुताबिक यह विभाग अजित पवार के पास जा सकता है । वहीं जयंत पाटिल, छगन भुजबल, राजेश टोपे का नाम भी नए गृहमंत्री के तौर पर आगे चल रहा है ।

बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने जिस तरह से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर गृहमंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं, उसके बाद से महाराष्‍ट्र की सियासत में भूचाल आया हुआ था. परमबीर सिंह ने उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में कहा था कि गृह मंत्री देशमुख ने हर महीने 100 करोड़ रुपये की वसूली की डिमांड रखी थी । हालांकि परमबीर सिंह के आरोपों को अन‍िल देशमुख ने खारिज कर दिया था और राज्‍य के मुख्‍यमंत्री से सभी आरोपों की जांच करने को कहा था। उन्‍होंने कहा कि जब आरोपों की जांच होगी तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा ।

बता दें कि इस मामले में आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट में सुनवाई हुई थी। मामले की सुनवाई करते हुए बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने कहा, क्‍योंकि अनिल देशमुख गृहमंत्री हैं इसलिए पुलिस इस मामले में निष्‍पक्ष जांच नहीं कर पाएगी। ऐसे में इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाती है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!