प्रधानमंत्री आवास योजना में शिकायतों को लेकर जिलाधिकारी ने नामित किया जांच अधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

० एक सप्ताह के अन्दर जांच कर निर्धारित विन्दुओं पर उपलब्ध कराये जांच रिपोर्ट- जिलाधिकारी

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलखित खरे द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत प्राप्त हो रही शिकायतों का संज्ञान लेते हुये प्रत्येक विकास खण्ड के योजना के अधिक लाभार्थियों वाली ग्राम पंचायतों का चयन करते हुये जांच टीम गठित कर जांच करने के निर्देश दिये गये है। जिलाधिकारी द्वारा प्राप्त शिकायतों के दृष्टिगत ग्राम स्तर पर चयन किये जाने वाले लाभार्थियों का नाम स्थाई पात्रता सूची में होने के उपरान्त भी उनका चयन क्रमानुसार न करके क्रम तोडकर चयन किय जाने की गम्भीर शिकायते प्राप्त हो रही है। जिसके कारण प्रत्येक विकास खण्ड में अधिकारी नामित करते हुये सम्बन्धित ग्राम पंचायत को वर्ष 2020-21 में चयन किये गये लाभार्थियों की सूची, ग्राम पंचायत सचिव द्वारा रिमाण्ड किये गये लाभार्थियों की सूची एवं ग्राम पंचायत की स्थाई पात्रता सूची प्रदान करते हुये सम्बन्धित नामित अधिकारी को 04 बिन्दुओं पर जांच कर, संकलित रिपोर्ट परियोजना निदेशक, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण पीलीभीत को एक सप्ताह के अन्दर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे तथा परियोजना निदेशक संकलित रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रस्तुत करेगें। प्रत्येक जांच टीम द्वारा जांच के दौरान वर्ष 20-21 में चयनित लाभार्थियों का चयन मानक के अनुसार किया गया है। जांच में स्पष्ट उल्लेख किया जाये। स्थाई सूची में जिन क्रमांक के लाभार्थियों को छोड़ा गया है, तो क्या उसका औचित्यपूर्ण कारण है तथा क्या जांच अधिकारी उस कारण से सहमत है, सचिव द्वरा रिमाण्ड कराये गये लाभार्थियों की सूची में कोई पात्र व्यक्ति का नाम तो रिजेक्ट नही किया गया है। यदि ऐसा है तो उसका स्पष्ट उल्लेख किया जाये। जांच आख्या में स्थलीय जांच के समय के फोटोग्राफ सहित प्रेषित की जाये। विकासखण्ड अमरिया के 10 ग्राम, विकासखण्ड पूरनपुर के 11 ग्राम, विकासखण्ड मरौरी के 12, ललौरीखेडा के 10 ग्राम, बिलसण्डा के 12 ग्राम, बीसलपुर के 12 ग्राम एवं बरखेडा के 12 ग्रामों का चयन करते हुय नामित अधिकारी को जांच करने निर्देश दिये गये।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!