कृषि कानून के विरोध में वाममोर्चा ने किया प्रदर्शन

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

कृषि बिल वापस लें और सार्वजनिक क्षेत्र को बेचना बंद करें सरकार- वाममोर्चा

सोनभद्र । राष्ट्रीय स्तर पर किसानों के चल रहे आंदोलन के समर्थन में जनपद में विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ताओं ने जहां जगह जगह प्रर्दशन किया और प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। वहीं कलेक्ट्रेट पर भारी पुलिस फोर्स की मौजूदगी में भाकपा, माकपा और माले व जनवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने वाममोर्चा के बैनर तले कृषि कानून वापस लेने, बढ़ती मंहगाई, बेरोजगारी,श्रम कानून और सार्वजनिक क्षेत्रों के हो रहे निजीकरण के सवाल को लेकर कलेक्ट्रेट गेट पर जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए सरकार की नीतियों के विरोध में जोरदार नारेबाजी किया। कलेक्ट्रेट घेराव के कार्यक्रम को देखते हुए सीओ सदर के नेतृत्व में भारी संख्या में तैनात पुलिस बल ने कार्यकर्ताओं को कलेक्ट्रेट गेट पर ही रोक दिया। जहाँ वाममोर्चा और जनवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पुलिस प्रशासन और सरकार की नीतियों के खिलाफ ग्यारह सूत्रीय ज्ञापन एसडीएम सदर को सौंपा।

इस दौरान उपस्थित वक्ताओं ने कहा कि विगत तीन माह से राष्ट्रीय स्तर पर चल रहे किसान आंदोलन का हम पुरजोर समर्थन करते हैं और राष्ट्रपति व राज्यपाल से मांग करते हैं कि कृषि और किसान विरोधी तीनों काले कानूनों को तत्काल प्रभाव से रद्द किया जाए। इसके साथ ही हम यह भी मांग करते हैं कि एमएसपी को लागू कराने के लिए कानून बनाया जाए।तीन साल से रोके गये गन्ने का समर्थन मूल्य तत्काल घोषित किया जाए , गन्ना किसानों के चीनी मिलों पर बकाये का भुगतान मय ब्याज के कराया जाए। विद्युत अधिनियम 2020 को रद्द किया जाए। पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस कीमतों को आधी की जाय। बढ़ती मंहगाई पर लगाम लगाया जाए। युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जाय। सार्वजनिक क्षेत्रों को बेचना तत्काल बंद कराया जाए और उत्तर प्रदेश में आंदोलनों ओर आंदोलनकारियों पर दमन को रोका जाए, कुशासन और भ्रष्टाचार की स्थिति में सुधार किया जाए। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि इन सवालों का जल्द ही समाधान नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में देश के हर कोने में आंदोलन और तेज होगा।


इस दौरान कामरेड आर के शर्मा, कामरेड नन्द लाल आर्या, कामरेड कलीम, छात्र नेत्री नजमा खातून, नौजवान सभा के दिनेश्वर वर्मा, नागेंद्र कुमार, पुरषोत्तम, प्रेम नाथ, अशोक कुमार, राजदेव, अमरनाथ सूर्य, हृदयानंद गुप्ता व शिवशंकर मिश्रा आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!