बसंत पंचमी के दिन देश के विभिन्न हिस्सों में एक साथ आतंकी हमले की साजिश नाकाम – ADG L&O

आतंकी संगठन पीएफआई के दो सदस्यों को एसटीएफ उत्तर प्रदेश ने गिरफ्तार किया है । जिनके पास से भारी मात्रा में उच्च कोटि के विस्फोटक बरामद किये गए हैं । ADG L&O ने बताया कि इनके पास से भारी मात्रा में एक्सप्लोसिव डेटोनेटर व चौकाने वाले दस्तावेज मिले हैं, साथ ही इनका सम्बंध पीएफआई से है । ADG L&O प्रशांत कुमार ने बताया कि इनका नाम अंसद बदरुद्दीन और फिरोज खान है । दोनों केरल के निवासी हैं । उन्होंने बताया कि गिरफ्तार दोनों आतंकी सदस्यों से 16 अदद उच्च एक्प्लोसिव डिवाइस बरामद किया गया । साथ ही 32 बोर की पिस्टल व अन्य सामान मिले हैं ।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि पीएफआई के लोग देश की सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए यूपी के कई महत्वपूर्ण संवेदनशील स्थानों व हिन्दू संगठनों के बड़े पदाधिकारियों पर हमला करने की योजना बना रहे हैं और अपने सदस्य भी बना रहे हैं ।

ADG L&O ने बताया कि इसी सूचना पर एसटीएफ़ ने मुखबिरों को सक्रिय किया, आज शाम पिकनिक स्पॉट के निकट लखनऊ से इनकी गिरफ्तारी की गई ।

प्रशांत कुमार ने बताया कि 11 फरवरी को सूचना मिली कुछ लोग ट्रेन से आएंगे उसके बाद फिर सूचना मिली कुकरैल पिकनिक स्पॉट पर है ये लोग पकड़े गए।
उन्होंने बताया कि बसन्त पंचमी पर आम जनता में आतंक फैलाने और विद्वेष उतपन्न करने वाले थे ।
ये वर्ग विशेष के नव युवकों को जो शारीरिक रूप से मज़बूत हो उनको घटना के लिए तैयार करना इनका मुख्य उद्देश्य था ।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि जब हाथरस की घटना हुई थी तब पीएफआई के सदस्य मथुरा में गिरफ्तार किए गए थे तब उन्होंने घटना को नकारा था। उन्होंने बताया कि रउफ के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था । ईडी को हैंडओवर किया था।
वेबसाइट पर खुद लिखा था कि ये लोग घटना कवर करने जा रहे थे ।

प्रशान्त कुमार ने कहा कि जब दिल्ली में हिंसा हुई थी तब कुछ ऐसे दस्तावेज भी मिले थे कि इनकी इन्वॉल्वमेंट हो सकती है । उन्होंने बताया कि ये लोग
ग्रुप बनाना चाह रहे थे और लोगो को तैयार कर रहे थे।
ये जंग छेड़ने की चाह में थे ।
एडीजी लाँ एन्ड ऑर्डर ने बताया कि कल पीएफआई का स्थापना दिवस भी है इसके लिए अलर्ट भी रखा गया है । एक साल में पीएफआई के 123 लोग पकड़े गए हैं । इनके बाकी सैकड़ों साथियों पर हमारी नजर है । गिरफ्तारी के साथ एसटीएफ़ ने बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य किया है, घटना को रोका है । एडीजी लॉ एण्ड ऑर्डर ने बताया कि अभी इनकी गिरफ्तारी शाम में हुई है । इनके पास बैटरियां वगैरह हैं इन्हें रिमाण्ड पर लेंगे पूछताछ करेंगे । ये लोग कई हिन्दू संगठन और धार्मिक स्थलों को निशाना बनाना चाहते थे । घातक हथियार के साथ-साथ इन लोगों की मंशा हिंदू संगठनों के बड़े नेताओ को निशाना बनाना था ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!