जिलाधिकारी ने चकिया में संपूर्ण समाधान दिवस पर समस्याओं एवं शिकायतों का किया निस्तारण

अबुलकैश (डब्बल)

चंदौली। सरकार के निर्देशों के अनुपालन में जन सामान्य की शिकायतों का त्वरित गति के साथ निस्तारण कराने के उद्देश्य से आज जनपद के सभी तहसीलों में तहसील संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। चकिया तहसील में सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान कुल 52 शिकायतें जन सामान्य के द्वारा दर्ज कराई गई, जिसके सापेक्ष 05 शिकायतों का निराकरण जिलाधिकारी के द्वारा संबंधित विभागीय अधिकारियों के माध्यम से मौके पर ही सुनिश्चित कराया गया है।

जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में चकिया तहसील में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन संपन्न हुआ। तहसील दिवस में ग्राम पंचायत डुमरी में विकास कार्यों की जांच कराने से संबंधित शिकायत पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिये। ग्राम पंचायत सरैया में चकरोड़ पर कब्जा करने से संबंधित शिकायत पर उप जिलाधिकारी चकिया व थाना बबुरी को संयुक्त जांच के निर्देश दिए। वार्ड नंबर 9 विभूति नगर, नगर पंचायत चकिया में सड़क के किनारे मानक के विपरीत सरकारी देसी शराब की दुकान हटवाने के संबंध में प्राप्त शिकायत पत्र को आबकारी अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि मानक के अनुसार स्थान का चिन्हांकन कर दुकान को स्थापित कराया जाए।
ग्राम ढोढनपुर निवासी मुराही देवी द्वारा अधूरा आवास की शिकायत पर जिलाधिकारी ने जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश जिला विकास अधिकारी को दिए। कौड़िहार पंप कैनाल बंद होने की शिकायत पर सिंचाई लघुडाल को तीन दिन के भीतर मशीन बनवाने के साथ नहर को पूरी क्षमता के साथ चलाने के निर्देश दिए। ग्राम दिरेहु में बिना शौचालय निर्माण करवाएं ही शौचालय का पूरा पैसा कागज पर निकाल लेने की शिकायत पर मुख्य विकास अधिकारी व जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच कर संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी संजीव सिंह ने इस अवसर पर समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जन सामान्य की समस्याओं एवं शिकायतों को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार बहुत ही गंभीर है। अतः समस्त जिला स्तरीय अधिकारीगण शासन एवं सरकार की मंशा को स्पष्ट रूप से समझें और उसी के अनुरूप तहसील दिवस में जो शिकायतें प्राप्त हुई हैं, सभी संबंधित शिकायतों का निराकरण पूर्ण गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय अवधि के भीतर करते हुए उसकी रिपोर्ट तहसील को तत्काल प्रभाव से उपलब्ध कराई जाए ताकि सभी शिकायतों का ब्यौरा ऑनलाइन सुनिश्चित किया जा सके। साथ ही जनसुनवाई एवं ऑनलाइन प्राप्त संदर्भ को प्रतिदिन अनुश्रवण किया जाए एवं उचित कार्यवाही सुनिश्चित हो। डिफाल्टर श्रेणी में कतई ना आने के निर्देश दिए कहा कि प्राप्त प्रार्थना पत्रों का गुणवत्तापूर्ण आख्या अपलोड करें साथ ही शिकायतकर्ता से वार्ता कर निस्तारण को अवगत कराएं। गलत तरीके से प्राप्त प्रार्थना पत्र को समय से संबंधित विभाग को हस्तांतरित किया जाए, विलंब कत्तई छम्य नहीं। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को यह भी स्पष्ट किया है कि प्राप्त शिकायतों में अधिकारियों के द्वारा मौके पर जाकर गुणवत्तापूर्वक शिकायतों का निराकरण सुनिश्चित कराया जाएगा, इस कार्य में किसी भी स्तर पर शिथिलता क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने कहा कि जनता की शिकायतों को लेकर सभी अधिकारीगण गंभीरता के साथ कार्यवाही सुनिश्चित करें और समस्त विभागीय अधिकारियों को जिस माध्यम से भी जनता की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं उनका निराकरण तत्परता के साथ किया जाए ताकि सरकार की मंशा का लाभ आमजन को प्राप्त हो सके।

संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक अमित कुमार, उपजिलाधिकारी अजय मिश्रा, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 बीपी द्विवेदी, तहसीलदार फूलचंद्र प्रसाद , जिला विकास अधिकारी पदमकांत शुक्ला, जिला विद्यालय निरीक्षक, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी उपनिदेशक कृषि, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, पुलिस के वरिष्ठ अधिकारीगण तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!