बीटेक की छात्राओं ने कॉलेज प्रवंधन पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- उनके भविष्य के साथ किया जा रहा खिलवाड़

राहुल शुक्ला (संवाददाता)

शाहजहांपुर । जिले की एक इंस्टीट्यूट से बीटेक कर रही कुछ छात्राओं ने कॉलेज प्रवंधन पर बड़ा एवं गंभीर आरोप लगाया है । छात्राओं का कहना है कि कॉलेज प्रवंधन उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है । छात्राओं का आरोप है कि कॉलेज द्वारा पूरी फीस जमा करवा लेने के बाबजूद यूनिवर्सिटी द्वारा फीस बकाया दिखाकर रिजल्ट रोका दिया गया । इतना ही नहीं परीक्षा में शामिल होने के बावजूद प्रयोगात्मक परीक्षा में अनुपस्थित दर्शाया जा रहा है । छात्राओं का कहना है कि रिजल्ट में सुधार ना करवा कर कालेज प्रबंधन अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ रहा है । जिससे छात्राओं का एडमिशन यूनिवर्सिटी द्वारा घोषित एडमिशन तिथि तक अगले सेमेस्टर में नहीं हो पा रहा। इसे लेकर वे बेहद चिंतित एवं तनाव में हैं क्योंकि छात्रों का भविष्य बर्बाद हो सकता है । छात्राओं ने अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी लखनऊ के कुलपति को पत्र भेजकर जांच कर दोषियों के खिलाफ जांच व कार्यवाही की मांग की है ।

आपको बतादें कि निवासी ग्राम बड़ा गांव, थाना बीसलपुर, जनपद पीलीभीत की छात्रा गार्गी गंगवार पुत्री हरिप्रसाद समेत कुल आठ छात्रों ने कंप्यूटर साइंस एंड टेक्नोलॉजी विषय के साथ वर्ष 2019-20 में शाहजहांपुर जिले की एक इंस्टीट्यूट में एडमिशन कराया था । जिसके बाद सभी परीक्षार्थियों ने प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा दिसंबर माह 2019 मे दी थी । प्रयोगात्मक परीक्षा भी कराई गई थी परंतु प्रथम सेमेस्टर के घोषित परीक्षा परिणाम में यूनिवर्सिटी द्वारा परीक्षार्थियों को प्रयोगात्मक परीक्षा में अनुपस्थित दिखाया जा रहा है । जिसके बाद द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा के बाद परीक्षार्थियों रिजल्ट यूनिवर्सिटी की फीस बकाया के चलते रोक दिया गया। छात्राओं के अनुसार कॉलेज प्रबंधन के पास सारी फीस पहले सेे ही जमा की जा चुकी है । कॉलेज प्रबंधन द्वारा छात्रा से अतिरिक्त फाइन की मांग कर रहा है । परीक्षा परिणामों में सुधार ना करवा कर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है ।

एक छात्रा के पिता हरिप्रसाद ने बताया कि कालेज प्रबंधन को फीस जमा करने के बावजूद फीस बकाया दिखाई जा रही है जिसके चलते यूनिवर्सिटी द्वारा रिजल्ट घोषित नहीं हो पा रहा है एवं प्रयोगात्मक परीक्षा में छात्रा को अनुपस्थित भी दिखाया जा रहा है जबकि कालेज प्रबंधन ने उनकी पुत्री छात्रा गार्गी गंगवार से एक बैंक में एक अकाउंट खुलवा कर जारी चेक बुक में साइन करवा कर चेक बुक अपने पास रख ली है एवं फीस की कोई भी डिटेल कॉलेज प्रबंधन द्वारा नहीं दी जा रही है । उनका कहना है कि परीक्षार्थियों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है ।

वहीं इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर राजीव अग्रवाल ने बताया कि संबंधित शिकायत की समस्या यूनिवर्सिटी से है, यूनिवर्सिटी को इस संबंध सुधार हेतु पत्राचार किया गया था । उन्होंने बताया कि आठ में से पांच छात्रों ने स्वयं जाकर सुधार भी करवाया है । उन्होंने इस बात का खंडन करते हुए कहा कि कॉलेज प्रबंधन द्वारा कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं मांगा जा रहा है ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!