दिल्ली से लौटे बिहार सीएम ने कहा- कृषि कानून किसानों के हित के लिए हैं न कि उनके खिलाफ

दिल्ली से पटना लौटे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि दिल्ली में सभी से मुलाकात हुई है । बिहार के संदर्भ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से बातचीत हुई । इस दौरान कैबिनेट विस्तार पर कोई बात नहीं हुई है । बंगाल चुनाव पर उनलोगों से कोई बात नहीं हुई है । जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष देखेंगे क्या करना है ।

सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा कि कोरोना वायरस टेस्ट में गड़बड़ी की जानकारी मिली है ।मैंने तत्काल वहीं से स्वास्थ्य सचिव से बात की । उन्होंने बताया है कि जांच चल रही है। राज्यसभा में भी किसी ने ये सवाल उठाया था । मैं हर दिन का रिपोर्ट लेता हूं, लेकिन बिना जांच किए लिखना की जांच हुई ये तो गलत है । इसमें तो करवाई होगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को भी आज इसकी रिपोर्ट भेज दी गई है । बिहार में कोरोना टेस्ट काफी अच्छे से हो रहा है । देश में दस लाख पर जो औसतन जांच होती है उसमें 22 हज़ार से भी ज्यादा जांच औसत बिहार का है ।

उन्होंने आगे कहा कि अगर किसानों का एक बार कृषि विभाग में रजिस्ट्रेशन है तो दोबारा सहकारिता में रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं है Procurement के लिए सभी निर्देश दे दिए गए हैं, कहीं कोई कन्फ्यूजन नहीं होनी चाहिए ।

आपको बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की ।नीतीश ने गुरुवार को तीन कृषि कानूनों के समर्थन में कहा कि वह सरकार के साथ हैं और कानून किसानों के हित के लिए हैं न कि उनके खिलाफ । उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने आंदोलन खत्म करने के लिए किसानों के साथ बातचीत करने का सही रास्ता अपनाया है । पिछले साल नवंबर में बिहार विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद दोनों नेताओं के बीच यह पहली बैठक थी ।

मोदी से मिलने के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया से कहा कि कृषि कानूनों का उद्देश्य किसानों को लाभ पहुंचाना है और ये उनके खिलाफ नहीं हैं । कानून वापसी की मांग के साथ पिछले साल 26 नवंबर से ही विरोध कर रहे किसानों के बारे में सवाल पूछे जाने पर नीतीश ने कहा कि हम सरकार के साथ हैं और सरकार ने बातचीत करके सही रास्ते का विकल्प चुना है । उन्होंने कहा कि वह जल्द ही समाधान निकाले जाने के प्रति आशान्वित हैं ।

नीतीश से एक अन्य सवाल पूछा गया कि जनता दल-युनाइटेड (जद-यू) को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल करने पर कोई चर्चा हुई या नहीं, इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रिमंडल पर कोई चर्चा नहीं हुई है । उन्होंने एक फरवरी को संसद में पेश किए गए केंद्रीय बजट की भी सराहना की और कहा कि कोविड महामारी के प्रभाव के बावजूद बजट बहुत अच्छा है । उन्होंने कहा कि बल्कि हम राज्य में एक अच्छा बजट लाएंगे ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!