डुब रहे भतीजे को बचाने में गंगा नदी मे डुबा युवक

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । विकासखंड राजगढ़ के अंतर्गत शक्तेशगढ़ के रहने वाले बुद्धिराम बिंद (40वर्ष) मौनी अमावस्या के पर्व पर मिर्जापुर के कटरा कोतवाली क्षेत्र के शास्त्री सेतु के पास स्नान के दौरान गंगा में डूब रहे अपने फुफेरे भतीजे सागर को बचाने में बुद्धिराम गंगा नदी में डूब गए।

बुद्धिराम दो दिन पूर्व नगर के महंत शिवाला निवासी अपनी बुआ पार्वती के यहां आया था। मौनी अमावस्या के पर्व पर शास्त्री सेतु के पास स्थित घाट पर अपने बुआ के बेटे राजकुमार सहित चार लड़कों के साथ नहाने गए थे। सभी एक साथ नहा रहे थे। तीन लड़के घाट पर ही स्नान कर बाहर आ गए, लेकिन सागर (10वर्ष) नहाता रहा। उसे बार-बार बाहर निकलने के लिए बोला जा रहा था, लेकिन वह अनसुना कर नहाता रहा। कुछ देर बाद वह गहरे पानी में जाकर डूबने लगा। यह देख बुद्धिराम उसे बचाने के लिए गंगा में कूद पड़ा। सागर को बचाने में कामयाब भी हो गया। उसे खींचकर बाहर कर दिया,लेकिन खुद गहरे पानी में चले गए और डूब गया। युवक को डूबते देख चचेरा भाई राजकुमार शोर मचाने लगा। आस-पास के लोग पहुंच गए और उन्हें बचाने का प्रयास किया, लेकिन कामयाब नहीं हुए। युवक के डूबे हुए एक घंटे का समय बीतने के बावजूद पुलिस खोजबीन शुरू नहीं कराई तो परिजन नाराज हो गए और नारेबाजी करने लगे। मौके पर पहुंचे कटरा कोतवाल प्रमोद यादव ने उनको समझाने बुझाने का प्रयास किया, लेकिन कोई मानने को तैयार नहीं था।लोगों के आक्रोश को देखते हुए घटना की सूचना उच्चाधिकारियों को दी। शास्त्री सेतु चौकी प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि बुद्धिराम पेशे से चालक थे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!