मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

वाराणसी । माघ माह का सनातन धर्म में विशेष महत्व है नरक निवारण चतुर्दशी के बाद माघ मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मौनी या माघी अमावस्या का पर्व पड़ता है। इस दिन जप, तप, दान और पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व है। इस पवित्र दिन पर मौन व्रत रखकर ईश्वर का ध्यान करके मुनि पद की प्राप्ति की जाती है। इसी परंपरा का निर्वहन करने के लिए काशी में गंगा घाट के किनारे देर रात से ही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ दिखाई देने लगी थी। बाहर से आये श्रद्धालुओं ने बताया कि आज के दिन स्नान कर दान करने से बड़ा लाभ मिलता है। वही माघी पूर्णिमा के स्नान को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए थे घाट के किनारे भीड़ को रोकने के लिए पुलिस के साथ -साथ एनडीआरएफ और जल पुलिस की टीमें भी सक्रिय रही।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!