सात लाख लाभार्थियों के बनाए जाएंगे गोल्डन कार्ड

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

गाजीपुर। स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार सीएचसी पर आयुष्मान भारत योजना का लाभ देने के लिए लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड बनाया जा रहा है। यह योजना केंद्र व प्रदेश सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना में शामिल है। जिससे लाभार्थी को पांच लाख तक का नि:शुल्क इलाज होगा।इस लाभ को लेने के लिए लाभार्थी को गोल्डेन कार्ड बनवाना जरुरी है।अबतक जनपद एक लाख 60 हजार 317 गोल्डेन कार्ड बनाए गए है। जबकि सात लाख लाभार्थियों के कार्ड बनाने का लक्ष्य है।
शासन के निर्देश के बाद भी जनपद में गोल्डेन कार्ड बनवाने की रफ्तार धीमी है।सीएमओ डा. जीसी मौर्या के सख्त होने के बाद अब गोल्डेन कार्ड बनवाने को लेकर विभाग अर्लट हो गया है। मुहम्मदाबाद ब्लाक में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नि:शुल्क गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से चिकित्सा अधीक्षक डा. आशीष राय ने बताया कि इस महत्वाकांक्षी योजना के लिए ब्लाक में 5400 परिवारों के नाम से गोल्डेन कार्ड नहीं बना है। इसे बनवाने के लिए लाभार्थी को बुलाकर गोल्डेन कार्ड बनाए जा रहे है। गोल्डन कार्ड नि:शुल्क बनाया जा रहा है।ल्डन कार्ड बनवाने के लिए जहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुहम्दाबाद पर निशुल्क बनाया जा रहा है। आयुष्मान मित्र कृष्ण कुमार सिंह ने बताया कि एक जनवरी से 30 जनवरी तक चले अभियान में 453 गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं। गोल्डन कार्ड बनाने में कई तरह की समस्याएं आ रही हैं। जैसे आयुष्मान कार्ड का मुखिया मृतक है, लेकिन उसका नाम है। कुछ लोग ब्लॉक या शहर से बाहर रह रहे हैं। वहीं कुछ लोगों का नाम दूसरे गांव के नाम में जुड़ गया है। जिसके चलते गोल्डन कार्ड बनाए जाने का लक्ष्य पूरा नहीं हो पा रहा है। बीपीएम संजीव कुमार ने बताया कि 2011 के जनगणना के अनुसार जिन लोगों को प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री का पत्र मिला है। वह लोग अपने उस पत्र के साथ आधार कार्ड या राशन कार्ड लेकर नजदीक के स्वास्थ केंद्र पर नि:शुल्क या सीएचसी पर ₹30 रुपया का भुगतान कर गोल्डन कॉर्ड बनवा सकता है। जिससे भविष्य में पांच लाख तक मुफ्त में इलाज करा सकते है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!