प्रधानमंत्री के भी आदेशों का पालन नहीं करते उनके सांसद विधायक: अंजनी सिंह

अबुलकैश डब्बल ब्यूरो

धानापुर। चौरी चौरा कांड के सौ साल पूरा होने पर भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के सभी क्रांतिकारियों स्वतंत्रता सेनानियों अमर शहीदों को को नमन किया गया। अगस्त क्रांति के वीर सपूतों में थाना भवन परतिरंगा फहराकर धानापुर को लगातार दस दिनों तक आज़ाद करा दिया था। जिसमें हीरा सिंह, महंगू सिंह रघुनाथ सिंह शहीद हो गए थे। सपा नेता अंजनी सिंह ने शहीदों को नमन करते हुए कहा कि सपा शहीदों के साथ दिखावा नहीं करती बल्की शहीदों को दिल से सलाम और सम्मान करती है। आश्चर्य हुआ कि आज भाजपा पूरे देश में चौरी चौरा कांड शताब्दी दिवस मनाने का ऐलान किया जो अच्छी बात है मगर मंच पर या अगल बगल कहीं भी चौरी चौरा कांड के एक भी शहीदों का फोटो नहीं था। बल्कि बैनरों पर सिर्फ़ भाजपा के नेताओं का ही फोटो था। धानापुर चंदौली के शहीदी इतिहास बनाने और देश के पाठ्यक्रमों में शामिल करने के लिए आफिसियली संघर्ष किया जिस पर तब के तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने संज्ञान लिया और धानापुर थाने से रिपोर्ट भी मंगाई थी लेकिन सपा सरकार सत्ता से बाहर हो गई वहीं प्रधानमंत्री, गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिख कर माँग किया था जिस संदर्भ में पीएमओ से मानवसंसाधन विकास मंत्रालय को आदेश भी हुआ था मेरे मांगो को संज्ञान में रखते हुए सांसद महेंद्र नाथ पांडेय ने शहीद दिवस के मौके पर शहीदी इतिहास को पाठ्यक्रम में शामिल करने की भी घोषणा की थी। मगर वो घोषणा सिर्फ़ मेरे आंदोलन को रोकने की राजनीतिक घोषणा मात्र थी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!