स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के त्याग व बलिदान का कर्ज अदा नहीं किया जा सकता- डॉ0 सतीश चंद्र द्विवेदी

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज सूबे के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री/प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चंद्र द्विवेदी ने शहीद उद्यान परासी दूबे में सोनभद्र जिले के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के गौरव स्तम्भ पर पुष्प चक्र अर्पित कर व दीप प्रज्ज्वलित कर “चौरी-चौरा शताब्दी समारोह” का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को माल्यार्पण कर व अंग वस्त्रम् प्रदान करके सम्मानित किया।

इस दौरान प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा कि “सोनभद्र, उत्तर प्रदेश व देश के अमर शहीद स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को नमन करते हुए जिले के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के कर्मस्थली व उनके गांव को “चौरी-चौरा शताब्दी समारोह” के अवसर पर यादगार बनाने व प्रेरणा लेने के लिए कार्यक्रम आयोजित किये जायं और उनके त्याग बलिदानों के प्रति नागरिकों को जागरूक किया जाय। शहीद उद्यान परासी दूबे के सुन्दरीकरण के लिए स्मृति द्वार व उच्च कोटि की सम्पर्क सड़क मार्ग बनाया जाय। देश को आजाद कराने में “चौरी-चौरा” का काफी महत्वपूर्ण योगदान है। सोनभद्र के साथ ही प्रदेश, देश के अमर शहीदों के त्याग और बलिदान पर कार्यक्रम शताब्दी समारोह के माध्यम से 04 फरवरी, 2021 से शुरू होकर 04 फरवरी, 2022 तक चलेगा। इस दौरान स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के कर्मस्थली उनके गांव व घर पर स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े स्लोगन को प्रदर्शित किया जाय और उनके कृत्यों के प्रति विचार गोष्ठी के माध्यम से नागरिकों को जागरूक किया जाय। सोनभद्र जिले के लगभग 112 स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के गांव के घरों पर दीप प्रज्जवलित करने के साथ ही उनके आश्रितों को सम्मानित करते हुए उनके कृत्यों का गुणगान किया जाय।”

उन्होंने कहा कि देश को आजादी काफी त्याग व बलिदान से मिली है, जिसे अक्षूण्य बनाये रखना हम सभी का कर्तव्य है। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के त्याग व बलिदान की प्रशंसा करते हुए कहा कि जिस प्रकार से एक बेटा अपने मॉ के दूध का कर्ज अदा नहीं कर सकता, उसी प्रकार से देश को आजाद कराने वाले वीर सपूतों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के त्याग व बलिदान का कर्ज हम अदा नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि प्रदेश के गोरखपुर जिले में 04 फरवरी, 1922 को चौरी-चौरा नामक गांव में एक पुलिस चौकी को स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने विरोध के रूप में आग के हवाले किया था। वह स्वतंत्रता संग्राम की चिंगारी सभी हिस्सों में फैली और नागरिकों में नई चेतना जागृत कराकर देश को आजाद कराने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

“चौरी-चौरा शताब्दी शुभारंभ समारोह” से वर्चुअल रूप से देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, प्रदेश की राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जुड़े रहे। “चौरी-चौरा शताब्दी शुभारंभ समारोह” के मुख्य अतिथि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का स्वागत प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। चौरी-चौरा थीम सॉग पर राष्ट्रीय वन्दे मातरम का गायन किया गया। प्रधानमंत्री द्वारा वर्चुअल रूप से चौरी-चौरा पर आधारित 5 रूपये का भारतीय डाक टिकट का भी विमोचन किया गया। प्रधानमंत्री द्वारा देश के अमर शहीदों को नमन करते हुए उनके कृत्यों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए “सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास” पर जोर दिया गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत देश भारत ही नही पूरे विश्व में जो अग्रणी स्थिति में हो रहा है, उसका श्रेय भारत के वीर सपूतों को है।

वहीं राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), बेसिक शिक्षा विभाग/प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चन्द्र द्विवेदी ने जिले के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को सम्मानित करते हुए शहीद उद्यान परासी दूबे के सुन्दरीकरण के लिए शहीद स्मृति द्वार व मुख्य सड़क से शहीद उद्यान परासी दूबे तक उत्कृष्ट स्टीमेट की सड़क बनाये जाने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि शहीद उद्यान जो अमर शहीद पण्डित महादेव चौबे की कर्मस्थली/मंत्रणा स्थली रही है। यह स्थल प्रेरणा का स्थल है, यहां पर नागरिकों को देश के अमर शहीदों के प्रति श्रद्धा-सुमन अर्पित करने व त्याग व बलिदान के प्रति जागरूक होने की स्थली है। राज्य मंत्री ने कहा कि सोनभद्र जिले के सभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के घरों पर उनके नाम व उनके कृत्यों का प्रदर्शन कराया जाय, साथ ही विचार गोष्ठी के माध्यम से अमर शहीदों के प्रति सम्मान प्रदर्शित किये जायें। उन्होंने कहा कि वास्तव में सोनभद्र जिला का इतिहास स्वतंत्रता संग्राम के लिए काफी संघर्षपूर्ण रहा है। इन अमर शहीदों के प्रति विविध प्रकार के आयोजन करके नागरिकों में राष्ट्रीय एकता व देश की अखण्डता को मजबूत करने के लिए “चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव” पूरा एक साल मनाया जाय। उन्होंने कहा कि स्वतत्रंता संग्राम सेनानियों के घरों को सायंकाल प्रकाशमान किया जाय और उनके त्याग व बलिदानों के प्रति नागरिको को जागरूक किया जाय।

कार्यक्रम का सफल संचालन भोलानाथ मिश्रा ने किया और कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों, गणमान्यजनों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों, प्रबुद्धजनों व आम नागरिकों के प्रति जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने आभार व्यक्त किया।

इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा जन स्वास्थ्य केन्द्र लगाकर आने वाले नागरिकों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया और शासन द्वारा भेजी गयी बड़ी एलईडी वैन द्वारा प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के कार्यक्रमों का सजीव प्रसारण के माध्यम चौरी-चौरा शताब्दी समारोह के प्रति उपस्थित जन समूह को जागरूक किया गया।

जिला स्तरीय शहीद उद्यान परासी दूबे में आयोजित “चौरी-चौरा शताब्दी शुभारंभ समारोह” में बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)/ प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चन्द्र द्विवेदी के अलावा जिलाधिकारी अभिषेक सिंह, पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा, विधायक घोरावल डॉ0 अनिल कुमार मौर्या, विधायक सदर भूपेश चौबे, जिलाध्यक्ष भाजपा अजीत चौबे, जिलाध्यक्ष अपना दल सत्यनारायण पटेल, सांसद प्रतिनिधि कुलदीप पटेल, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनगण, अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक ओ0पी0 सिंह, उप जिलाधिकारी सदर डॉ0 कृपा शंकर पाण्डेय, तहसीदार बी0के0 वर्मा, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 नेम सिंह, जिला विकास अधिकारी रामबाबू त्रिपाठी, जिला पूर्ति अधिकारी राकेश तिवारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ0 गोरखनाथ पटेल, विजय शंकर चतुर्वेदी, चन्द्रकान्त शर्मा, धर्मवीर तिवारी, गणमान्यजन व आम नागरिकगण मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!