एक ही परिवार के सात लोग जहरखुरानी के शिकार

कृपाशंकर पाण्डेय (संवाददाता)

ओबरा। जहरखुरानों ने मंगलवार रात बिल्ली स्टेशन के पास रहने वाले एक परिवार को शिकार बना लिया। जब होश में आया परिवार तो पैरों तलों ज़मीन खिसक गई। मिली जानकारी के अनुसार 2 अनजान लोग परिवार के पास आये और भूखे होने की बात कही। उन्होंने कहा कि आप का खाना बन रहा है उसी में हम दोनों का भी खाना बना दीजिये, परिवार राज़ी हो गया। परिवार को क्या मालूम था की मानवता दिखाने का मतलब खुद की आफत मोल लेना होता है। रात में परिवार ने खाना खाया फिर अचानक तबियत ख़राब हो गया और एक-एक करके सब मदहोश होकर बेहोश हो गए। सुबह सभी को होश आया लेकिन उनकी हालत बिगड़ती देख पड़ोसीयों ने एम्बुलेंस को फोन किया। एम्बुलेंस से पीड़ित सभी लोगो को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोपन में भर्ती कराया गया। जहाँ डॉक्टरों ने 3 मरीजों की गम्भीर स्थिति को देखते हुए, जिला अस्पताल लोढ़ी के लिए रेफर कर दिया। बाकी चार मरीजों का इलाज़ चोपन सामुदायिक केंद्र में ही चल रहा है। आरोपियों ने घर मे रखे बक्शे को दूर ले जाकर फेक दिया था। उस बक्शे में क्या था अभी तक इसकी जानकारी नहीं हो पाई है। परिजनों ने बताया कि, रात में दो लोग आए खाने की बात करके बैठ गए और हम लोगों का जो खाना बन रहा था उसी में हम लोगों ने उनका भी खाना बना दिया। रात में परिवार ने खाना खाया फिर अचानक तबियत ख़राब हो गया और एक-एक करके सब मदहोश होकर बेहोश हो गए।
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डॉक्टरों ने बताया कि ये लोग जब हमारे पास आये थे तो काफी गंभीर अवस्था मे थे। हमने इलाज़ किया, जिसमे तीन लोग गंभीर थे जिन्हें जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है। बाकी चार का इलाज़ चोपन सामुदायिक केंद्र में ही चल रहा। अभी उनकी हालत स्थिर बनी हुई है।
ऐसे में माना जा रहा की बिल्ली रेलवे स्टेशन के पास रह रहा परिवार जहरखुरानी का शिकार हो गया। अब देखने वाली बात यह है इस मामले में प्रशासन क्या एक्शन लेती है और आरोपी कब पकड़ में आते है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!