काचन गांव में फर्जी पट्टे का मामला : जांच शुरू होते ही निवर्तमान प्रधान को मिलने लगी धमकी

जनपद न्यूज ब्यूरो

– प्रधान का खुलासा, पट्टे के पीछे एक नामचीन लेखपाल

– खुद की पहचान छिपाने के लिए पिता को कर दिया आगे

– प्रधान ने जांच टीम को लिखित दिया, गांव में नहीं है कोई चंद्रावती

प्रतीकात्मक तस्वीर

सोनभद्र । काचन गाँव में हुए फर्जी पट्टे के मामले में हर दिन नए नए खुलासे हो रहे हैं और वह भी बेहद चौकने वाले । अभी जांच रिपोर्ट आई भी नहीं कि फर्जी पट्टा कराने वाले प्रधान को ही धमकी मिलने लगी हैं । काचन गांव के निवर्तमान प्रधान का कहना है कि जांच टीम को उन्होंने लिखित दे दिया है कि उनके गांव में किया गया उक्त पट्टा फर्जी है । निवर्तमान प्रधान के मुताबिक यह पट्टा एक लेखपाल की पत्नी के नाम का है, जो तथ्य को छिपाने के लिए चंद्रावती पुत्री तेजन करा दिया ताकि उसका नाम सामने न आ सके। निवर्तमान प्रधान का कहना है कि उसने यह भी लिखकर दिया है कि उक्त नाम का उसके गांव में कोई नहीं है । उन्होंने बताया कि जांच टीम के सामने लिखने के बाद से उसे फोन पर उक्त लेखपाल द्वारा धमकी दी जा रही है । उक्त लेखपाल का कहना है कि वह कुछ भी लिख दे उसका कुछ नहीं होगा । उसने यह भी दावा किया कि पूरा प्रकरण अधिकारियों के संज्ञान में है इसलिए कुछ नहीं होना है । निवर्तमान प्रधान ने जनपद न्यूज Live को बताया कि वह गरीबों के लिए हर लड़ाई लड़ने को तैयार है और किसी भी कीमत पर उक्त पट्टे की जमीन को भूमाफियाओं के हाथों में नहीं जाने देगा ।
सूत्रों की माने तो अभी एक लोगों की जांच हो रही है, जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ेगा कई और चौकने वाले नामों के खुलासे होंगे।
बहरहाल एडीएम द्वारा बैठाई गयी जांच की समयावधि समाप्त हो चुकी है । अब देखने वाली बात यह है कि जांच में कितने नए-नए खुलासे होते हैं और कौन-कौन बेनकाब होता है ।




अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!