सेनिटरी एवं नैपकिन निर्माण के लिए प्रशिक्षण शुरू

रमेश कुमार (संवाददाता)

– विधान के प्रयासों से नाबार्ड से मिली एक वरदान

– संस्था विधान के प्रयासों से नाबार्ड द्वारा विधान संस्था के संरक्षण में स्थापित सेनिटरी नेपकिन निर्माण का उद्घघाटन

– जिला विकास प्रबंधक नाबार्ड पंकज कुमार* ने द्वीप प्रवजलित करके किया।

– सैनिटरी नैपकिन पर नाबार्ड के द्वारा विधान संस्था के प्रयाशो से स्वयं सहायता समूह के महिलाओं को प्रशिक्षण दी जाएगी।

दुद्धी। दुद्धी क्षेत्र में ग्रामीण उद्यमिता कार्यक्रम के तहत लगातार बेहतर प्रयास किए जा रहे हैं।उसी क्रम में अब सेनेटरी एवं नैपकिन निर्माण कार्य के लिए प्रशिक्षण शुरू हो गई हैं।परियोजना प्रबंधक अकाश कुमार यादव ने बताया कि संस्था विधान के द्वारा दुद्धी ब्लॉक में आजीविका मिशन के द्वारा गठित स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के सेनिटरी नेपकिन के निर्माण के प्रशिक्षण देने के लिए आजीविका एवं उद्यम विकास कार्यक्रम का उद्घाटन डीडीएम नाबार्ड द्वारा की गई। परियोजना प्रबंधक ने यह भी बताया कि सैनिटरी नैपकिन के निर्माण का दुद्धी ब्लॉक के कुल 90 सदस्य परिवारों को विधान संस्था से प्रशिक्षण दिया जाएगा साथ ही साथ सैनिटरी नैपकिन के बिक्री के लिए बेहतर बाजार का भी उपलब्ध कराया जाएगा।

मुख्य अतिथि डीडीएम नाबार्ड ने कहा कि कार्यक्रम का उदेशय स्वयं सहायता समूह के महिलाओं के अजिविका के नए साधन प्रेषित कर उनकी आय बड़ाना मात्र एक उद्देश्य है । यह बात सुनकर कटोली ग्राम पंचायत के समूह सखी भगवंती देवी और उनकी टीम ने नाबार्ड के डी0डी0एम0 पंकज कुमार को गद्द गद हृदय करते हुए कहा कि यह कार्यक्रम स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के लिए वरदान है।
अंत में संस्था के पदाधिकारी आकाश कुमार ने मुख्य अतिथि समेत उपस्थित सभी प्रशिक्षु महिलाओं को धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए डी0डी0एम0 पंकज कुमार, परियोजना प्रबंधक आकाश कुमार, उदय कुमार, काजल सिंह, वीरेंद्र कुमार, बी0आर0पी0 संगीता देवी, समूह सखी भगवंती, समूह सदस्य आदि उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!