किसानों के ट्रैक्टर परेड को प्रशासन ने रोका, नोकझोंक के बाद तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

अखिलेश कुमार सिंह (संवाददाता)

सोनभद्र । पूर्वांचल नव निर्माण मंच तथा पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के किसानों ने “किसान गणतंत्र दिवस परेड” निकालकर गणतंत्र दिवस मनाते हुए दिल्ली मे चल रहे किसानांदोलन का सांकेतिक समर्थन किया।

पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के किसानों ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के प्रतिनिधि के रूप में आये तहसीलदार सदर बृजेश कुमार वर्मा को सौंपा।

पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच तथा पूर्वांचल नव निर्माण मंच के किसानों ने ज्ञापन के माध्यम से महीनों से चल रहे किसान आंदोलन को समाप्त कराने के लिए सामंजस्य स्थापित करने की मांग करते हुए कहा कि कानून को स्थगित करने का सरकार का प्रस्ताव प्रमाणित करता है कि कानून किसान हित मे नहीं है।

किसानों ने राष्ट्रपति की निगरानी मे किसानों तथा कृषि एक्सपर्ट्स की टीम गठित कर नया कानून बनाने की मांग की।

किसान हित में पू0न0नि0किसान मंच किसानों नें न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग को जायज और जरुरी बताते हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बनाने की मांग राष्ट्रपति से की। ज्ञापन के माध्यम से किसानों नें पूर्वी उत्तर प्रदेश मे भंडारण/कोल्ड स्टोरेज का अभाव बताते हुए कहा कि भंडारण के अभाव मे प्रायः यहां के किसान औने-पौने दाम पर फसल बेचने को विवश होते हैं । किसानों ने केन्द्र मे प्रस्तावित पूर्वांचल राज्य के जनपदों के प्रत्येक विकास खंड में दो-दो कोल्ड स्टोरेज बनाने की मांग की ताकि किसान भंडारण करके अच्छे दाम पर बेच सके।

पू0न0नि0 किसान मंच किसानों ने सिंचाई के लिए किसानों को मिले बिजली कनेक्शन पर 50% सब्सिडी देने की मांग राष्ट्रपति से करते हुए बताया कि साल मे सिंचाई के लिए किसान मात्र तीन महीने कनेक्शन का उपयोग करता है जबकि बिल पूरे 12 महीने वसूला जाता है।

पू0न0नि0 किसान मंच के किसानों ने सोनभद्र में हाइब्रिड धान खरीद पर प्रतिबंध लगाए जाने की बात भी ज्ञापन के माध्यम बताते हुए सोनभद्र सहित आस-पास के जनपदों में शत प्रतिशत धान खरीद सुनिश्चित कराने की मांग की।

किसानों को बिचौलियों के दोहन बचाने के लिए पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के किसानों ने खसरा के आधार पर सीधा किसानों से लेबी चावल देने की व्यवस्था बनाने की मांग की। किसान मिलों से चावल तैयार करके सरकार को कम दाम पर ही दे सकता है, जिससे किसानों का दोहन भी बंद होगा।

पू0न0नि0मंच तथा पू0न0नि0 किसान मंच के किसानों ने
पूर्व निर्धारित तिरंगा परेड बेलौड़ी डाक बंगाल से निकाला जिसे उत्तर प्रदेश पुलिस ने चपईल गांव के सामने पूरना मोड़ पर रोक लिया गया। किसानों ने पुलिस अधीक्षक से बात करके कलेक्ट्रेट कार्यालय पर ज्ञापन देने की बात कही लेकिन एसपी की तरफ से कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला। वहीं किसानों द्वारा जिलाधिकारी को फोन किया गया लेकिन फोन नहीं उठा। बाद में मौके पर पहुंच कर सदर तहसीलदार ने ज्ञापन लिया।
पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच तथा पूर्वांचल नव निर्माण मंच के नेता रवि प्रकाश चौबे तथा श्रीकांत त्रिपाठी ने कहा कि यदि सोनभद्र के किसानों का धान नहीं खरीदा जाता है तो किसान जनपद मुख्यालय पर धान लेकर ट्रैक्टर परेड निकालेंगे, जिसकी पुरी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी।

पू0न0नि0मंच के उपाध्यक्ष गिरीश पाण्डेय ने कहा सरकार किसान आंदोलन को दबाने का नाकामयाब प्रयास कर रही है।
गिरीश पांडेय ने कहा कि जवानों तथा किसानों को आमने-सामने कराकर सरकार बहुत दिन तक शासन नहीं कर पायेगी।

परेड में नीबी, चपईल, विक्रमपुर, नाको, तियरा , रैइया, खुझा, बेलगाईं, भवानीगांव शिवालागाव सहित दर्जनों गांव से सत्य प्रकाश देव, लवकुश देव, सोनू, महेश, मनोज चौबे, उमाशंकर ओझा, शनि मिश्रा, मृतुन्जय मिश्रा, उदय प्रकाश, भोला पाण्डेय, प्रभाकर , अनिल चौहान, अभय पटेल, अनिल तिवारी, ओम प्रकाश व अन्य किसान लगभग 100 ट्रैक्टर परेड में शामिल हुए।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!