कल मध्य रात्रि खत्म होगा जिला पंचायत का कार्यकाल, 14 से प्रशासक होंगे नियुक्त

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिला पंचायत के कार्यकाल की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। कार्यकाल का महज एक दिन और बचा है। 13 जनवरी की आधी रात को कार्यकाल समाप्त हो जाएगा। अध्यक्ष का कार्यकाल खत्म होते ही 14 जनवरी को प्रशासक के हाथों में बागडोर आ जायेगी। नए बोर्ड के गठन तक प्रशासक ही कार्यभार संभालेंगे। कार्यकाल खत्म होने के पहले आज जिला पंचायत कार्यालय में भीड़भाड़ देखने को मिला।

वर्ष 2016 में जिला पंचायत का चुनाव हुआ था। उस समय सपा की सरकार थी। अनिल यादव अध्यक्ष बन कर कुर्सी संभाले लेकिन ज्यादा दिन तक कुर्सी पर टिक नहीं सके और सत्ता परिवर्तन होने के साथ ही अध्यक्ष की कुर्सी भी बदल गयी और भाजपा से अमरेश पटेल जिला पंचायत के नए अध्यक्ष के रूप में कुर्सी संभाली। पांच साल के कार्यकाल में दो अध्यक्षों ने जिला पंचायत की कुर्सी पर बैठकर अपने-अपने कार्यकाल को चलाया ।

शुरू के कार्यकाल की बात करें तो एक मामला काफी चर्चा में रहा जब अनिल यादव अध्यक्ष थे औऱ अमरेश पटेल बतौर सदस्य उनके खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे। मामला बिना टेंडर खुले एमबी कर लाखों का पेमेंट किये जाने का था, जिसमें अनिल यादव की काफी किरकिरी भी हुई थी। सत्ता परिवर्तन के साथ भाग्य व समीकरण ने साथ दिया अमरेश पटेल अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठ गए लेकिन जिस मामले को उन्होंने बतौर सदस्य उठाया था अध्यक्ष बनते उस मामले को ही भूल गए। बताया तो यह भी जाता है कि उस काम का पेमेंट भी वर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष के कार्यकाल में ही हुआ। कुल मिलाकर जिला पंचायत से जिस भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए अध्यक्ष अमरेश पटेल कुर्सी पर बैठने से पहले शपथ लिया था वह तो पूरा नहीं हुआ बल्कि मीडिया के सामने यह जरूर मजबूरी गिना दी कि वे कार्यवाही कराने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र जरूर लिखे हैं।

बहरहाल कुल मिलाकर वर्तमान अध्यक्ष के कार्यकाल में कभी धरना-प्रदर्शन देखने को नहीं मिला, पूरा कार्यकाल शांतिपूर्ण तरीके से ही बीत गया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!