जिलाधिकारी ने जिला अस्पताल का किया औचक, सख्त तेवर से मचा हड़कंप

मनोहर कुमार (संवाददाता)

* डीएम ने जिला अस्पताल का निरीक्षण कर परखीं व्यवस्थाएं

* मरीजों से ली सुविधाओं की जानकारी

चन्दौली। स्वास्थ्य सेवाओं की हकीकत परखने के लिए जिलाधिकारी संजीव सिंह ने मंगलवार को 100 शैयायुक्त मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य विंग महिला और जिला अस्पताल महिला एवं पुरुष का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने ओपीडी, इमरजेंसी, दवा स्टोर, प्रसव वार्ड और परिसर की साफ-सफाई व्यवस्था देखी। कोरोना संक्रमण को देखते हुए उन्होंने अस्पताल में बेहतर साफ-सफाई रखने के कड़े निर्देश दिए। जिलाधिकारी के निरीक्षण में एमसीएच विंग हास्पिटल में जच्चा बच्चा को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रही है हॉस्पिटल में कुछ सुविधाएं नहीं थी जिसके लिए शासन को पत्र के माध्यम से अवगत कराने के निर्देश एमसीएच विंग के अधीक्षक को दिया गया। कहां कि माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार स्वास्थ सुविधा मरीजों को बेहतर ढंग से मिले इसके लिए डॉक्टरों की उपस्थिति बायोमेट्रिक सिस्टम से मानक के अनुसार मैन पावर 24 हावर तैयार रहें, ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो सके।
उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों को दिए जाने वाली सुविधाओं की जानकारी ली। इसके बाद वह जिला होम्योपैथिक कार्यालय में निरीक्षण कर बनाये जा रहे भोजन की गुणवत्ता की जानकारी ली। साथ ही कार्यालय के आसपास गंदगी देख चिकित्सक को तत्काल साफ-सफाई व्यवस्था दुरुस्त कर कूड़े को समुचित जगहों पर शिफ्ट करने के निर्देश दिए। कैन्टीन में निरीक्षण के दौरान दाल, चावल, सब्जियां एवं अन्य सामग्री को सुव्यवस्थित ढंग से रखने के निर्देश दिए। कैन्टीन में भोजन की गुणवत्ता की जांच के बाद डीएम ने सुधार का निर्देश दिया। कहा कि कैन्टीन का सामग्री ब्रांडेड हो और एक्सपायरी न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए, यदि कहीं दिक्कतें आई तो खैर नहीं। अस्पताल की ओपीडी के बाहर कतार में खड़े मरीज और पर्चा काउंटर पर खड़े मरीजों को शारीरिक दूरी का पालन कराने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि जितने भी मरीज आते हैं उनका ओपीडी प्रांगण में सबसे पहले थर्मल स्कैनर से मरीजों की स्क्रीनिंग की जाए। इसके बाद उनके हाथों को सैनिटाइज कराया जाए। फिर उनको शारीरिक दूरी के साथ कतार में खड़े होने के लिए कहा जाए। चिकित्सा परिसर में साफ-सफाई समुचित न होने पर डीएम ने नाराजगी प्रकट की। इस पर सीएमएस ने अपने अधीनस्थों को तत्काल सफाई कराने के निर्देश दिए।
उन्होंने अस्पताल परिसर व गैलरी की सफाई व्यवस्था देखी। खामियां मिलने पर सफाई व्यवस्था और बेहतर करने के निर्देश दिए। कहा कि अस्पताल में आने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएं। साथ ही चिकित्सकों से बाहर की दवा न लिखने के कड़े निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने अस्पताल के वार्डों का निरीक्षण कर भर्ती मरीजों से रूबरू होकर जानकारी ली। मरीजों ने बताया कि अस्पताल से ही इंजेक्शन व बोतल लगाई जा रही है और किसी प्रकार के पैसे की मांग नही की जाती। इस पर डीएम ने संतोष जताते हुए जिला अस्पताल के सीएमएस को अस्पताल में सफाई व्यवस्था बेहतर रखने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने चिकित्सा अधीक्षक को निर्देशित कर कहा कि स्वास्थ सुविधा बेहतर हो ओपीडी में नियमित चिकित्सक समय से बैठकर मरीजों से बेहतर संवाद कर उचित दवाइयां दिया जाए। परिसर में नवनिर्मित शौचालय के निर्माण कार्य में यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए इसके अतिरिक्त 24 हावर फिटर पहले से संचालित कराया गया था उसको दुरुस्त कराने के निर्देश अधिशासी अभियंता विद्युत को दिए।
निरीक्षण के दौरान जिला चिकित्सा अधीक्षक एवं एमसीएच विंग अधीक्षक सहित डॉक्टर उपस्थित थे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!