गांवों में सजने लगी है राजनीतिक महफ़िल दावेदार दिखा रहे हैं दम

मनोहर कुमार (संवाददाता)
– गांवों में मददगार भी बन रहे दावेदार

चंदौली। धान के कटोरे के रूप में विख्यात चंदौली जनपद में मौसम की राजनीतिक कलाबाजी हो रही है।
अभी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की घोषणा भले ही नहीं हुई हो लेकिन इसकी सुगबुगाहट के बीच शुरू हुई पैतरेबाजी ने गांवों का सियासी पारा एकाएक बढ़ा दिया है। दावेदार अब जरूरतमंदों के मददगार भी बन रहे हैं। गांवों में राजनीतिक महफ़िल भी सजने लगी है।कौन किस क्षेत्र से किस पद पर लडेगा इस पर भी चर्चाओं का बाजार गर्म है।संभावितों की नजर सीटों के आरक्षण पर भी है। ताकि उसके अनुसार मोर्चे बन्दी की जा सके।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव आहट के बीच राजनीतिक गरमी बढ़ने लगी है। गांवों में राजनीतिक पारा भी शनै शनै आगे बढ रहा है। राजनीतिक पारंगत अभी से अपनी कुशलता का परिचय दे रहें हैं। गांवों में इस समय राजनीतिक महफिलें भी सज रहीं हैं। दावेदार अब मददगार बन कर सामने आ रहे हैं।
चुनाव लड़ने के इच्छुक दावेदारों के मन में आरक्षण को लेकर भारी बेचैनी है। उनके मन में इस बात को लेकर काफी आशंकाएं हैं कि कहीं आरक्षण के चलते वे मैदान में ही न उतर सकें। तमाम आशंकाओं के बावजूद संभावित दावेदारों ने मतदाताओं की गणेश परिक्रमा शुरू कर दी है। बीमार को अस्पताल पहुंचाने से लेकर किसी विवाद की स्थिति में थाने तक पहुंचकर सुलह समझौता कराने का काम शुरू हो चुका है। जोर आजमाइश के लिए तैयार प्रत्याशियों द्वारा मतदाता सूची तैयार कराने में खूब दिलचस्पी ली जा रही है। चाय, पान की दुकानों पर अब सिर्फ पंचायत चुनाव की ही चर्चा है। दावेदारों के समर्थक समीकरण बनाने में जुट गए हैं। आरक्षण को लेकर असमंजस की स्थिति के बाद भी संभावित दावेदार कहीं राशन कार्ड बनवाने में दिलचस्पी लेते दिख रहे हैं तो कहीं लोगों के दवा इलाज से लेकर अन्य समस्याओं के समाधान की कोशिश में जुटा है। पेंशन, आवास की चिंता भी इन्हें होने लगी है। जो सबसे खास बात दिख रही है वर्तमान प्रधान को नकारा साबित करने की कोशिश की जा रही है। सब मिलाकर स्थिति दिलचस्प हो गई है। अब किसका दाव कितना सटीक बैठता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा लेकिन गांवों का माहौल दिलचस्प हो गया है।गांवों में चर्चाओं का दौर भी चल रहा है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!