मुख्तार अंसारी को लाने के लिये ग़ाज़ीपुर पुलिस फिर गई पंजाब

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

गाजीपुर । उत्तर प्रदेश की योगी सरकार मुख्तार अंसारी को किसी भी कीमत पर ग़ाज़ीपुर लाना चाहती है, इसी लिए पंजाब के रोपड़ जेल से यूपी लाने के लिए कानूनी विकल्पों का सहारा ले रही है। मुख्तार को किसी भी कीमत पर यूपी पुलिस वापस लाने पर आमादा है। मुख्तार के मेडिकल कवच का काट हासिल करने के लिए यूपी सरकार सुप्रीम कोर्ट की शरण में जा पहुंची है। सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार की याचिका पर सुनवाई के बाद रोपड़ जेल अधीक्षक को 18 दिसंबर को एक नोटिस जारी किया था। उस नोटिस को रोपड़ जेल अधीक्षक को हैंड डिलीवरी करवाने की योजना यूपी सरकार ने बनाई है। इसके लिए गाजीपुर पुलिस की दो सदस्यीय टीम को दिल्ली होते हुए रोपड़ और चंडीगढ़ रवाना किया है। टीम दिल्ली जाकर यूपी सरकार के वकील गरिमा प्रसाद से नोटिस लेकर रोपड़ रवाना होगी और जेल अधीक्षक को नोटिस सौंपेंगी।
बता दें कि पंजाब में दर्ज रंगदारी के एक मामले में मुख्‍तार अंसारी पर केस दर्ज कर रोपड़ जेल ले जाया गया था। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मुख्तार को बांदा जेल से पंजाब की रोपड़ जेल में शिफ्ट किया गया था। तब से मुख्तार रोपड़ जेल में ही बंद है। इस दौरान यूपी पुलिस की खूब किरकिरी हुई। वजह रही कि मुख्तार को पेशी के लिए यूपी लाने गई गाजीपुर और आजमगढ़ पुलिस को बैरंग ही वापस आना पड़ा था। गाजीपुर के मुहम्मदाबाद कोतवाली में दर्ज फर्जी दस्‍तावेजों पर असलहे का लाइसेंस लेने के मामले में प्रयागराज की एमपी-एमएलए कोर्ट में उसकी पेशी होनी थी। वहीं, आजमगढ़ में दर्ज आपराधिक मामले में मुख्‍तार को वहां सेशन कोर्ट में पेश किया जाना था। मुख्तार को पेश करने के लिए कई बार नोटिस जारी तो की गई, लेकिन नतीजा सिफर ही रहा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!