मौसम के तेवर देख किसानों के माथे पर उभरी चिंता की लकीरें

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । मड़िहान के कलवारी स्थित हॉट शाखा पर धान बेचने आए किसानों के माथे पर चिता की लकीरें साफ दिख रही है, हल्की बूंदाबांदी से किसान परेशान हो गए। ज्यादातर किसानों ने अपने धान को बेचने के लिए कई दिनों से क्रय केंद्र पर नंबर लगाएं हैं और मौसम में आए एकाएक बदलाव से डर सता रहा है कि कहीं उनके धान भींग न जाएं। हालांकि किसानों को अपने धान को बेचने में हो रही समस्या का निदान नहीं हो पा रहा है।
गुरुदेव नगर स्थित शाखा क्रय केंद्र पिछले कई दिनों से बंद है। इस क्रय केंद्र पर बेचे गए किसानों के खाते में धनराशि नहीं आई है, भुगतान न होने से किसान परेशान है। किसानों का कहना है कि जबकि धान खरीद के 72 घंटे में भुगतान किसान के खाते में किया जाना है, लेकिन डेढ़ महीने के बाद भी खाते में धन नहीं आया। इससे किसानों के जीवन यापन में समस्या उत्पन्न हो गई है, क्योंकि किसान खेती-बाड़ी के आमदनी पर ही आश्रित हैं। ऊपर से शाखा क्रय केंद्र गुरुदेव नगर कई दिनों से बंद है। इस केंद्र पर छोटे-मोटे किसानों से धान की खरीद हो जाती थी जबकि हाट शाखा पर छोटे किसानों का नामोनिशान ही नहीं है। किसानों आरोप लगाया कि बड़े किसान अपना वर्चस्व जमाए बैठे हैं।

किसान रामदेव ने बताया कि उनके धान की खरीद डेढ़ महीने हो चुकी हैं फिर भी उनके खाते में अभी तक एक रुपया नहीं आया। इस दौरान किसान अवधेश, त्रिभुवन, लाला आदि किसानों ने जल्द भुगतान किए जाने की मांग की।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!