किसान कल्याण मिशन कार्यक्रम में उमड़ी भीड़, दुर्व्यवस्थाओं व नाराजगी के साथ कार्यक्रम सम्पन्न

घनश्याम पाण्डेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

– दुर्व्यवस्थाओं को लेकर चोपन प्रमुख ने बीच में छोड़ा कार्यक्रम

– बैठने की व्यवस्था न मिलने से प्रधान भी दिखे नाराज

– कई ग्रामीणों ने कहा- झूठ बोलकर उन्हें बुलाया गया कार्यक्रम में

– कोविड नियमों की उड़ी धज्जियां, बड़ी संख्या में बिना मास्क के बैठे दिखे ग्रामीण

चोपन । आज लखनऊ में सीएम योगी ने किसानों के जीवन में खुशहाली लाने के लिए किसान कल्याण मिशन कार्यक्रम का शुभारंभ किया । सीएम ने कहा कि अन्नदाता हमारा खुशहाल होगा तो हमारा देश स्वयं खुशहाल हो जाएगा।

लेकिन चोपन ब्लाक में आयोजित किसान कल्याण मिशन कार्यक्रम में भीड़ तो अधिकारियों को खुश करने वाला था लेकिन कार्यक्रम में पहुंचने वाले लोग खुश नहीं दिखे। कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे कई लोगों ने बताया कि उन्हें झूठ बोलकर बुलाया गया है । किसी ने बताया कि वह आवास लेने आयी है तो कोई मजदूरी लेने पहुंची थी।

आयोजक द्वारा कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए ग्रामीणों के अलावा ब्लाक क्षेत्र के प्रधानों को भी बुलाया गया था लेकिन जब वहां प्रधान पहुंचे तो वहां बैठने तक की व्यवस्था नहीं थी । दुर्व्यवस्था देखकर कई प्रधान भड़क गए । प्रधानों का कहना था कि वे जनप्रतिनिधि के साथ किसान भी हैं लेकिन आज वे प्रधान नहीं हैं तो उनके साथ इस तरह का व्यवहार किया जा रहा है ।

कार्यक्रम शुरू होते ही ब्लाक प्रमुख बबली कार्यक्रम स्थल पर पहुँची तो वहाँ पर अव्यवस्थाओं को देखकर कर नाराजगी जाहिर करते हुए कार्यक्रम को बीच में ही छोड़ कर चली गई । अधिकारी मनाने की कोशिशों में लगे रहे लेकिन उनका कहना था कि ठंड में लोगों को जमीनों पर बिठा कर उनका अपमान किया जा रहा है । यह कार्यक्रम किसानों के लिए था लेकिन जिस उद्देश्य से लोगों को झूठ बोलकर लाया गया वह गलत है । उनका कहना है कि हमें किसानों को जागरूक व उनकी आय को दुगनी कैसे की जाय इस पर कार्यक्रम करना है न कि भीड़ को दिखाना है ।

प्रमुख के जाते ही अधिकारियों के हाथ पांव फूलने लगे, वे तत्काल कुर्सियां मंगाकर लोगों को जमीन से ऊपर बिठाने लगे । लेकिन फिर भी बड़ी संख्या में लोगों को फिर भी कुर्सी नहीं मिली ।

किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में जिस तरह भी भीड़ उमड़ी थी उनमें ज्यादातर लोग बिना मास्क के भी बैठे नजर आए । ब्लाक द्वारा जिस तरह से कोविड 19 का खुली धज्जियां उड़ाई गयी वह उनकी तैयारियों व कोरोना के प्रति अधिकारियों की गंभीरता को भी दर्शाता है ।

कार्यक्रम में शिरकत करने आये मुख्य विकास अधिकारी अमित पाल शर्मा से जब दुर्व्यवस्था को लेकर बताया गया तो उन्होंने बताया कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नही है, यदि इस तरह की लापरवाही बरती गई है तो संज्ञान में लेकर बात की जाएगी।

बहरहाल किसान कल्याण मिशन कार्यक्रम सम्पन्न हो गया । लेकिन जिस तरह से कार्यक्रम में भीड़ जुटाने के लिए सरकारी तंत्र झूठ बोलकर लोगों को बुलाया गया वह नहीं न कहीं लोगों को भी खराब लग रहा था। लेकिन कुल मिलाकर बिना मास्क के ही सही भीड़ अच्छी खासी थी जो अधिकारियों को तो खुश कर गयी, शासन स्तर पर भी तस्वीरें खुश कर देंगी ।

इस मौके पर जिला कृषि अधिकारी पीयूष राय, कृषि वैज्ञानिक पीके सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ए के श्रीवास्तव, उप कृषि निदेशक दिनेश कुमार गुप्ता, लैम्पस प्रतिनिधि राधारमण पाण्डेय, पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सत्य प्रकाश, जेपी राम, राजेश पाल, ओम प्रकाश वर्मा इत्यादि लोग उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!