पटेहरा के पाली हाउस से मिलेंगे सस्ते दामों में हर प्रजाति के पौधे

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । पटेहरा विकासखंड के बगल में मृत पड़े उद्यान विभाग की नर्सरी में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से निर्मित पाली हाउस अब रंग लाने लगा है। उद्यान में इस समय विभाग ने आम-अमरूद समेत विभिन्न प्रजातियों के पौधे तैयार किए हैं।
उद्यान में कलमी आम में दशहरी, लंगड़ा और चौसा, अमरूद में इलाहाबादी सफेदा, लखनऊ 49 और लालिमा, नीबू कलमी में कागजी, अजवाइन, एलोवेरा, जामुन, कटहल, सहजन, करौदा, आंवला फूलों में गुलाब के साथ अन्य कई प्रजातियों के लिए अब किसानों को दूर दराज भटकना नहीं पड़ेगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में लाखों की लागत से तैयार पाली हाउस और श्रमिकों के रोजगार मिलने से उनके श्रम अब दिखने लगे है। वैसे भी यहां के पहले से लगाए अमरूद के फल बेमिसाल थे कितु धन के अभाव में यह नर्सरी मृतप्राय में हो गई थी।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी उद्यान विभाग का दिख रहा परिश्रम
गरीब कल्याण योजना से मिले किसानों को सहयोग से विकास खंड में अमोई, कचरिया, टौआ टोला के किसानों की सब्जी अब जनपद क्या जनपद से बाहर भी दिखने लगी है। सब्जियों में गोभी, टमाटर, मटर, भांटा, मिर्चा मजे से किसान नई तकनीक से उगा कर अपनी आय बढ़ाकर मालामाल हो रहे है।

जिला उद्यान अधिकारी मेवाराम ने बताया कि “नर्सरी में संसाधन व बजट की कमी को दूर किया गया है। नए तकनीक से पौध पाली हाउस में तैयार कराए जा रहे है। मड़िहान तहसील के पटेहरा और राजगढ़ के किसानों को उद्यान विभाग आय दोगुनी से भी अधिक बढ़ाने के लिए केला और पपीता की खेती कराने का हुनर सिखाएगा। जल्द ही इस क्षेत्र को केला और पपीता के लिए जाना जाएगा। पटेहरा का गुलदस्ता लखनऊ और कानपुर जैसे बड़े नगरों में अपनी पहचान बना लिया है।”

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!