बाल भिक्षावृत्ति उन्मूलन के लिए अभियान आज से शुरू

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सार्वजनिक स्थानों पर बच्चे भीख माँगते दिखें तो बच्चे की फोटो के साथ दें 9454400304 पर सूचना

बाल भिक्षावृत्ति रोकने के लिए आज से 15 दिनों तक के लिए विशेष अभियान शुरू

बच्चों को गोद में लेकर भीख मांगने वाली महिलाओं की भी की जाएगी काउंसलिंग

मुख्यधारा से जोड़े जाएंगे भीख मांगकर गुजारा करने वाले बच्चे

सोनभद्र । सड़क से लेकर चट्टी-चौराहों तक व सिनेमा हाल से लेकर शॉपिंग माल तक भीख मांगने वाले बच्चों की भीड़ अक्सर देखने को मिलती है। सार्वजनिक स्थानों पर भीख मांगने वाले बालक-बालिकाओं को मुख्य धारा में जोड़ने को पुलिस ने बीड़ा उठाया है। इसको लेकर पुलिस ने जिले में भीख मांगने को मजबूर बालक-बालिकाओं को इससे बाहर निकालने को अभियान शुरू किया है। आज से शुरू हुए इस अभियान के तहत रेलवे स्टेशनों, ट्रेनों, बस अड्डों, चट्टी-चौराहे पर भीख मांगने वाले बच्चों की काउंसलिंग कर उन्हें उनके परिवार वालों को सौंपा जाएगा या बाल गृह में रखा जाएगा।

पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि “बच्चों को भिक्षावृत्ति के दलदल से निकालने और उन्हें शिक्षा देकर बेहतर नागरिक बनाने के लिए इस तरह के अभियान को चलाने का निर्णय लिया गया है। फिलहाल समिति का फोकस रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, ढाबा और ट्रेनों पर है, जो महिलाएं बच्चों को गोंद में लेकर भिक्षा मांगती हैं, उनकी काउंसलिंग के निर्देश दिए गए हैं। अगर कोई व्यक्ति कहीं भी बच्चों को भिक्षावृत्ति में लिप्त पाता है तो वह सीधे उनके मोबाइल नंबर 9454400304 पर बच्चे की फोटो के साथ सूचना दे सकता है। ताकि उस पर तत्काल पहल की जा सके।”

इसी क्रम में आज थाना प्रभारी बाल कल्याण शिवानी मिश्रा, एसजीयूपी इंस्पेक्टर के0के0 सिंह, विधिक सह परिवीक्षा अधिकारी नेहा अग्रवाल, सामाजिक कार्यकर्ता रोमी पाठक, ओआरडब्लू शेषमणि दुबे ने नगर के सार्वजिक स्थानों जैसे बढ़ौली चौक, रोडवेज बस अड्डा, धर्मशाला रोड, चंडी होटल, महिला थाना रोड, रेलवे स्टेशन तथा मंदिरों के बाहर भीख मांगने वाले स्थानों को भ्रमण कर चिन्हित किया।

वहीं बाल कल्याण थाना प्रभारी शिवानी मिश्रा ने बताया कि “पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में आज से बाल भिक्षावृत्ति पर अंकुश लगाने के लिए जागरूकता अभियान शुरू किया गया है। इस दौरान सार्वजनिक स्थानों पर भीख मांगने वाले बालक-बालिकाओं को मुख्य धारा में जोड़ने के लिए प्रचार-प्रसार किया गया।”



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!