ऑपरेशन के बाद मरीज की मौत, परिजनों ने जमकर काटा बवाल

रमेश कुमार (संवाददाता)

निजी हॉस्पिटलों में आये दिन हो रही मौत का जिम्मेदार कौन

● दुद्धी कस्बे के एक निजी अस्पताल का मामला

पूर्व में भी एक निजी हॉस्पिटल में डॉक्टरों की लापरवाही से एक महिला ने तोड़ा था दम

ऐसे मामलों की कार्यवाही का आश्वासन तो मिलता है पर जाँच ही नहीं होती जाँच पूरी

दुद्धी । स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के विंढमगंज रोड पर स्थित एक निजी अस्पताल में एक महिला के पेट के ऑपरेशन के बाद मौत होने से परिजनों ने जमकर बवाल काटा। उधर मौका देख सभी स्टाफ कथित अस्पताल से फरार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुँच कर कानूनी कार्यवाही का भरोसा देकर मृतका के परिजनों को समझाने बुझाने में जुटी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतिका मेदिनीखाड़ थाना विंढमगंज की रहने वाली जिसकी उम्र करीब 40वर्ष थी। परिजनों ने बताया कि अचानक पेट दर्द उठा तो वह क़स्बा दुद्धी में संचालित अस्पताल ले आया जहां गुरुवार को सुबह 10 बजे भर्ती कराया तो यहाँ के चिकित्सकों ने पेट मे ट्यूमर होने की बात कह ऑपरेशन करने की बात कही और कल रात्रि 10 बजे ऑपरेशन कर दिया गया।

शुक्रवार की शाम उसकी हालत बिगड़ गई और अचानक मौत हो गई। पीड़ित ने बताया कि पैसा भी लग गया और पत्नी की मौत भी हो गयी। बताया कि उसके 2 लड़के 2 लड़कियां है। घटना को देख अस्पताल पर तमाशबीनों की भीड़ उमड़ पड़ी और हर कोई इस घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाएं करते नजर आए और सवाल खड़े कर रहे थे कि आखिर किसके इशारे पर दुद्धी में मौत का अस्पताल चल रहा है।

बता दें कि अभी कुछ महीने अमवार रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भी एक महिला की मौत हुई थी लेकिन उसे भी लीपापोती कर स्वास्थ्य विभाग ने फिर से आस-पास संचालन की मौन स्वीकृति प्रदान कर दी है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!