दर्जनों गांवों को सीधा जोड़ने वाला शौचालय बिहीन है महुली बसअड्डा

धर्मेन्द्र गुप्ता(संवाददाता)

बिगत आठ वर्षों से लगातार किया जा रहा है शुलभ शौचालय की मांग
– पूर्व में हुए कई जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के जन्मस्थली होने के बावजूद मुलभुत सुविधाओं से अछूता है यह गांव
विंढमगंज(सोनभद्र)। स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत पुरे देश-प्रदेश में बिभिन्न योजनाओं को क्रियान्वित किया गया तथा इस मिशन के तहत अनेक कार्यकम हो रहे हैं परन्तु दुध्दी ब्लाक के महुली बसअड्डा आज भी अपने हाल पर रोना रो रहा है।यहाँ कूडों का अम्बार लगा हुआ है।इस गांव के लिए सफाईकर्मी भी चयनित हैं बावजूद इसके बस अड्डा कूडों से पटता जा रहा है।यह बस अड्डा शौचालय बिहिन है।स्थानीय बस स्टैंड पर शौचालय नही होने से लोग को काफी परेशानी होती है।बिगत आठ वर्षों से लगातार यहाँ शौचालय की मांग की जा रही है।इस बस अड्डे पर एकलौता ग्रामीण बैंक होने के कारण महिलाएं,पुरुष के अलावा स्कूली छात्र छात्राओं का आना जाना होता है जिन्हें शौचालय के बिना असहज महसूस होता है। बस स्टैंड के आस पास घनी आबादी होने के कारण लघुशंका के लिए भी पाच सौ मीटर दूर खुले मे जाने को मजबूर होना पड़ता है ।इस बस स्टैंड के दर्जन भर गांव से जुड़े होने के कारण सैकड़ों लोगों को आवागमन हेतु साधन यही से उपलब्ध होता है जिसके कारण देर शाम तक भीड़ की स्थिति बनी रहती है।ग्रामीणों ने बताया कि हम लोग कई बार इस सम्बंध मे जनप्रतिनिधि से भी मांग किया पर परन्तु सिर्फ आश्वासन ही मिल सका।ग्रामीण अशोक कुमार ,संजय कुमार, राजकिशोर ,विवेक कनौजिया ,अनिल गुप्ता, जोगिंदर कनौजिया ने जिला प्रशासन का ध्यान आकर्षित करते हुए शौचालय बनाने की मांग तथा इस बस अड्डे की नियमित सफाई कराने की मांग की है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!